NDTV Khabar

हम लोग : 'अतिथि देवो भव' को व्यवहार में कितना उतारते हैं हम?

 Share

क्या हम अपने मुल्क में आने वाले मेहमानों को वह सम्मान देते हैं जो हमारे मुल्क की परम्परा है. यानी 'अतिथि देवो भव'. यह सवाल इस लिए पूंछना जरूरी है क्योंकि 22 अक्टूबर यानी पिछले रविवार को फतेहपुर सीकरी जो आगरा से बहुत करीब है वहां पर स्विट्जरलैंड से आए दो सैलानियों के साथ बहुत मारपीट की गई.



Advertisement