NDTV Khabar

क्या बीजेपी 2019 के लिए नए साथी ला सकती है?

 Share

बीजेपी अब अपनी तरफ से कोशिश कर रही है कि जितने भी उनके पुराने साथी हैं, जो पारंपरिक तौर पर, विचारधारा के तौर पर बीजेपी के साथ जुड़े रहे हैं, वो आज भी उनके साथ जुड़े हैं. लेकिन ये होना कोई आसान बात नहीं है. मिसाल के तौर पर बीजेपा और शिवसेना का रिश्ता वर्षों पुराना है. पहले शिवसेना लीड पार्टी थी, लेकिन अब सियासत बदल चुकी है. मुक़ाबला में अभिज्ञान प्रकाश ने जब जेडीयू के प्रधान महासचिव केसी त्यागी से पूछा कि क्या बीजेपी नए साथी ला सकती है तो उन्होंने कहा कि सियासी रूप से खुद से परहेज़ की धारणा बीजेपी ने बहुत पहले तोड़ दी थी.



Advertisement