NDTV Khabar

नेशनल रिपोर्टर : अवैध निर्माण हटाने पर मौत

 Share

अतिक्रमण करना जैसे हमारी आदत में शुमार हो गया है. गली मोहल्लों से लेकर सड़कों-बाज़ारों तक हर जगह खुलेआम अतिक्रमण होता है और हम देखते रहते हैं. अतिक्रमण हमारी मानसिकता में शुमार हो गया है, हमारी व्यवस्था उसकी आदी हो गई है, इसलिए उसे होने देती है.



Advertisement