NDTV Khabar

एनडीटीवी युवा : एशियम गेम्स में मेडल जीतने वाली दुती चंद के स्ट्रगल की कहानी, उन्हीं की जुबानी

 Share

एनडीटीवी युवा में दुती चंद ने कहा कि जब एशियन गेम्स के लिए मेरा चयन हुआ, तो मेरे मन में यही आया कि जो भी हो मगर देश के लिए कोई तो मेडल लेना ही है. दुती चंद ने कहा एश‍ियाड में शुरू से लेकर अंत तक भागते वक्‍त मेरी आंखें बंद थीं. फिर मेडल मेरे हाथ में था. दुती चंद ने कहा कि मेरे परिवार में कुल 9 लोग हैं. मेरे परिवार का कपड़ा बनाने का काम है. गांव में भागने में काफी दिक्कत होती थी. मैं नदी किनारे भागती थी. ठंडे मौसम में एक फ्रॉक पहनकर भागती थी. मुझे नंगे पांव भी भागना पड़ा.



Advertisement