NDTV Khabar

लंबी लड़ाई के बाद मिला इंसाफ: अंशुल

 Share

सिरसा के पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के मामले में डेरा सच्चा सौदा के बाबा गुरमीत राम रहिम को उम्रकैद की सजा मिली है. लेकिन इस मामले में पीड़ित परिवार के लिए यह लड़ाई आसान नहीं रही है. पत्रकार रामचंद्र के बेटे अंशुल से एनडीटीवी ने खास बात की. अंशुल ने बताया कि हमें अपनी लड़ाई में मुख्यधारा की मीडिया से कभी कोई मदद नहीं मिली. उन्होंने कहा कि मेरे पिता सिर्फ डेरा प्रमुख का सच्चा चेहरा बाहर लाना चाहते थे. मेरे पिता की डेरा प्रमुख से कोई दुश्मनी नही थी.



Advertisement