NDTV Khabar

यूनियन नेता ने जेट बंद होने के पीछे जताया शक

 Share

जेट एयरवेज के कर्मचारियों ने वेतन के भुगतान में विलंब और कंपनी की बदहाली के लिए गुरुवार को नरेंद्र मोदी सरकार और कर्जदाताओं को जिम्मेदार ठहराया. वित्तीय संकट के कारण जेट एयरवेज की सभी उड़ानें गुरुवार को अस्थायी रूप से बंद हो गईं, जिस कारण कर्मचारियों के सामने बेरोजगारी का खतरा पैदा हो गया है. जेट एयरवेज के कर्मचारियों की नाराजगी सवाल उठा रही है कि आसमान में राज करने वाली कंपनी अचानक धराशाही क्यों हो गई? पहले वेतन मिलना बंद हुआ और फिर एक-एक कर जेट की सभी विमानें बंद हो गई.



Advertisement