NDTV Khabar

भैय्यूजी की वसीयत पर विवाद, पुराने सेवादार विनायक को संपत्ति और अधिकार

 Share

पारिवारिक तनाव के चलते खुद को गोली मारकर आत्महत्या करने वाले संत और आध्यात्मिक गुरु भय्यूजी महाराज (उदय राव देशमुख) के सुसाइड नोट का दूसरा हिस्सा बुधवार को सामने आया है. इसमें उन्होंने अपनी तमाम आर्थिक जिम्मेदारियां अपनी मां और पत्‍नी को नहीं बल्कि सेवादार विनायक को सौंपी हैं. विनायक पिछले डेढ़ दशक से भय्यूजी महाराज के साथ रहे थे. इंदौर के पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) ने संवाददाताओं को बताया, 'सुसाइड नोट में संपत्ति के सभी अधिकार सेवादार विनायक को दिए हैं. विनायक पर उन्होंने सबसे ज्यादा भरोसा जताया है.'



Advertisement