NDTV Khabar

'गजब' मंटो की 'अजब' जिंदगी के अफसाने

 Share

इस फिल्म में दिखाया गया है कि किस तरह के मंटो को बंटवारे के बाद लाहौर जाना पड़ता है लेकिन उनका दिल मुंबई में ही है. फिल्म की कहानी मंटो के लेखन पर हुए विवाद और मंटो के व्यक्तित्व को दिखाती है. मंटो की कहानियां फिल्म मंटो को दिशा देती है. फिल्म का शुरुआती हिस्सा थोड़ा लंबा है. हालांकि फिल्म की निर्देशक नंदिता ने 40 के दशक को अच्छे से दिखाया है.



Advertisement