NDTV Khabar

मुश्किल में जेट एयरवेज के कर्मचारी

 Share

वित्तीय संकट से जूझ रही जेट एयरवेज ने अस्थायी रूप से कंपनी को बंद करने के लिए कर्जदाताओं से 400 करोड़ रुपये की अंतरिम निधि की मांग की, जबकि कंपनी का वर्तमान परिचालन बेड़ा घटकर पांच विमानों का रह गया है. नागर विमानन सचिव प्रदीप सिंह खरोला के मुताबिक, एयरलाइन ने मंगलवार को केवल पांच विमानों का ही संचालन किया, जबकि एक दिन पहले इसकी संख्या सात थी. वर्तमान नियमों के तहत किसी एयरलाइन को अपने एयर परिचालन परमिट को जारी रखने के लिए कम से कम पांच विमानों का परिचालन करने की जरूरत है.



Advertisement