NDTV Khabar

Exclusive: जिगना की जुबानी जेल की कहानी, सलाखों के पीछे बिताए 9 महीने

 Share

साल 2011 का चर्चित पत्रकार जेडे हत्याकांड, यह हत्या अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन ने करवाई थी. इस हत्याकांड में सनसनीखेज मोड़ तब आया जब इस इसमें जिगना वोरा को गिरफ्तार किया गया. आरोप लगा कि जिगना वोरा ने ही छोटा राजन को जेडे के खिलाफ उकसाया था और जेडे की मोटरसाइकिल का नंबर भी जिगना वोरा ने ही दिया था. इस खुलासे के बाद मीडिया ही संदेह के घेरे में आ गई थी. लेकिन पहले मकोका कोर्ट ने और बॉम्बे हाईकोर्ट को जिगना के खिलाफ कोई सुराग नहीं मिला था. अब आठ साल बाद जिगना वोरा पूरी तरह से बरी हो चुकी हैं. लेकिन क्या यह सब इतना आसान था. जिगना वोरा ने बताया कि इस मामले ने जिंदगी को पूरी तरीके से बदलकर रख दिया. मुंबई की टॉप क्राइम रिपोर्टर से एक अपराधी बन गई, एक हंसता खेलता परिवार अकेला हो गया. जिस कोर्ट में कसाब का ट्रायल कवर किया था वहां खुद अपराधी बनकर पहुंच गई.



Advertisement