NDTV Khabar

मेनस्ट्रीम मीडिया भले ही पत्रकारिता भूल गया, लेकिन जनता को याद है : मैगसेसे स्पीच में रवीश कुमार

 Share

रैमॉन मैगसेसे पुरस्कार ग्रहण करने के लिए मनीला पहुंचे NDTV के रवीश कुमार ने अपनी स्पीच में कहा, "मुझे हर दिन व्हॉट्सएप पर 500 से 1,000 मैसेज आते हैं... कभी-कभी यह संख्या ज़्यादा भी होती है... हर दूसरे मैसेज में लोग अपनी समस्या के साथ पत्रकारिता का मतलब भी लिखते हैं... मेनस्ट्रीम न्यूज़ मीडिया भले ही पत्रकारिता भूल गया है, लेकिन जनता को याद है कि पत्रकारिता की परिभाषा कैसी होनी चाहिए... जब भी मैं अपना व्हॉट्सऐप खोलता हूं, यह देखने के लिए कि मेरे ऑफिस के ग्रुप में किस तरह की सूचना आई है, मैं वहां तक पहुंच ही नहीं पाता... मैं हज़ारों लोगों की सूचना को देखने में ही उलझ जाता हूं, इसलिए मैं अपने व्हॉट्सऐप को पब्लिक न्यूज़रूम कहता हूं..."



Advertisement