NDTV Khabar

अमित शाह के हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने वाले बयान पर विपक्षी नेताओं ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

 Share

हिन्दी दिवस के मौके पर एक बार फिर बहस तेज हो गई है कि क्या पूरे देश की एक भाषा हिन्दी होनी चाहिए. गृह मंत्री अमित शाह ने जहां हिन्दी को एक देश की भाषा बनाने पर जोर दिया वहीं कई दक्षिण भारतीय नेताओं ने कहा कि हिन्दी थोपने से पूरा देश एक साथ नहीं चल सकता. दरअसल इस मौके पर शाह ने ट्वीट कर इसे राष्ट्रभाषा बनाने की हवा को गति दे दी है. उन्होंने ट्विटर पर लिखा, 'आज हिंदी दिवस के अवसर पर मैं देश के सभी नागरिकों से अपील करता हूं कि हम अपनी- अपनी मातृभाषा के प्रयोग को बढाएं और साथ में हिंदी भाषा का भी प्रयोग कर देश की एक भाषा के पूज्य बापू और लौह पुरूष सरदार पटेल के स्वप्न को साकार करने में योगदान दें.'



Advertisement