NDTV Khabar

NRC की कानूनी लड़ाई लड़ने के लिए लोगों के पास नहीं हैं पैसे

 Share

असम में NRC की फाइनल लिस्ट आने के बाद अब उन लोगों के लिए नई समस्या और लड़ाई सामने है जिनका नाम इस लिस्ट में नहीं है. उन्हें अब लंबी कानूनी लड़ाई भी लड़नी है. लेकिन, कई ऐसे लोग हैं जिनके पास ना तो इस लड़ाई को लड़ने के पैसे हैं और ना ही साधन. गुवाहाटी के 47 साल के अताउर अली छह महीने से बिस्तर पर हैं. उन्हें रीढ़ की समस्या है. अली गुजारे के लिए ड्राइविंग करते हैं. छह महीने से उनके पास गुजारे का साधन नहीं बचा है. अब एक नई चुनौती उनके सामने है. उनका नाम नागरिकता रजिस्टर से बाहर है और अब उन्हें एक लंबी कानूनी लड़ाई लड़नी है और इसका पैसा भी जुटाना है.



Advertisement