NDTV Khabar

सुप्रीम कोर्ट ने व्यभिचार कानून को किया रद्द, कहा- यह अपराध नहीं

 Share

158 साल पुराने कानून IPC 497 (व्यभिचार) की वैधता (Supreme Court verdict on Adultery under Section 497) पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने गुरुवार को अहम फैसला सुनाया. सुप्रीम कोर्ट में पांच जजों की संविधान पीठ ने व्यभिचार कानून को रद्द करते हुए कहा- यह अपराध नहीं



Advertisement

 
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com