NDTV Khabar

चालान से बचने के लिए कागज दुरुस्त कराने में जुटे लोग

 Share

नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू होने के बाद से दिल्ली में चालान में भारी कमी देखी जा रही है. अगस्त महीने में रोज़ाना 16 से 17 हज़ार चालान कट रहे थे, जबकि अब सितंबर में 4 से 5 हज़ार चालान हो रहे हैं. ट्रैफ़िक पुलिस का मानना है कि भारी भरकम चालान के चलते लोग अब सजग हो गए हैं. वहीं पल्यूशन बनवाने के लिए हर रोज प्रदूषण जांच केंद्रों पर 40 से 45 हजार गाड़ियां आ रही हैं. लोड बढ़ने से दिल्ली सरकार का सर्वर भी डाउन हो रहा है. ऐसे में प्रदूषण जांच केंद्रों का समय 12 से बढ़कर 15 घंटे किया गया है.



Advertisement