NDTV Khabar

शहीद लेफ्टिनेंट उमर फैयाज को जिंदादिल मानते थे उनके दोस्‍त

 Share

बुधवार को खबर आई कि सेना के लेफिटिनेंट उमर फैयाज़ की आतंकवादियों ने हत्या कर दी. महज़ 22 साल के उमर फैयाज़ ने दिसंबर 2016 में ही पहली पोस्टिंग कश्मीर में ही ज्‍वाइन की थी. पहली बार छुट्टी पर घर गए थे. वहां निहत्थे उमर फैयाज़ को आतंकवादियों ने सबके सामने अगवा किया. अगले दिन सुबह उनका गोलियों से छलनी शव मिला. हमारे साथ सेना के वो पांच अधिकारी हैं जिन्होंने कभी ना कभी उमर फैयाज़ के साथ काम किया. हमारे सहयोगी राजीव रंजन के साथ उन्होंने साझा की हैं भारतीय सेना के कश्मीरी अधिकारी लेफ्टिनेंट उमर फैयाज़ के साथ के अनुभव, उनके लक्ष्य, उनकी परेशानियां, उनके सपने.



Advertisement