NDTV Khabar

पक्ष विपक्ष : क्‍या सोशल मीडिया दोधारी तलवार है?

 Share

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ कथित आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर स्वतंत्र पत्रकार प्रशांत कनौजिया की गिरफ्तारी पर सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि यूपी सरकार प्रशांत कनौजिया को रिहा करे. सोशल मीडिया पर मजाक करना उनके लिए महंगा पड़ गया. भले ही उनकी बातें आपत्तिजनक रही हों लेकिन क्‍या उनके खिलाफ जो कार्रवाई की गई वो सही थी? इस मुद्दे क्‍या कहना है दिल्‍ली की जनता का, देखिए पक्ष विपक्ष में.



Advertisement