NDTV Khabar

रवीश कुमार का प्राइम टाइम : अमेरिका में अश्वेतों पर हुई यातनाएं दर्शाता एक म्यूज़ियम

 Share

अमरीका के मंटगुमरी शहर में म्यूज़ियम एंड मेमोरियल बना है. इसका नाम है दि नेशनल मेमोरियल फॉर पीस एंड जस्टिस. यह म्यूज़ियम पिछले साल अप्रैल में खुला है जिसे लिंचिंग म्यूज़ियम भी कहा जाता है. ब्रायन स्टीवेंसन नाम के पब्लिक इंटरेस्ट लायर ने इसकी कल्पना की थी. इस म्यूज़ियम को देखने के लिए अब देश विदेश से लोग वहां जाते हैं. बाहर ही आपको दीवार में चिनवा दिए गए अश्वेत लोगों की मूर्तियां मिलेंगी. कलाकार थॉमस ने आज के अमरीका में अश्वेतों के ऊपर पुलिस की यातना को बताने के लिए ऐसी मूर्ति बनाई है. मगर अमरीका में 19वीं और 20 वीं सदी में अश्वेत लोगों को बड़ी संख्या में बात बात पर लिंच कर दिया गया. उन्हें मार दिया गया. ब्रायन और उनके साथी वकीलों ने कई साल लगाकर 4400 ऐसे मामले पता किए हैं जिनकी लिंचिंग हुई है. कइयों के नाम हैं और कइयों के नहीं है. आप यहां देख सकते हैं कि सबसे नाम को शहर के नाम के साथ इस स्टील फ्रेम में लटका दिया गया है. जिस पर नाम लिखा है वह जंग खाए लोहे की पट्टी है. यहां पर 800 से अधिक ऐसी पट्टियां लटकी मिलेंगी. 800 इसलिए हैं क्योंकि वे उन काउंटी का प्रतिनिधित्व करती हैं जहां लिंचिंग की घटना हुई थी. 8 साल तक रिसर्च चला और एक एक मामले को इन वकीलों ने जमा किया. इनके रिसर्च के अनुसार एक साल में औसतन लिंचिंग के 60 मामले हुआ करते थे.



Advertisement