NDTV Khabar

प्राइम टाइम : देश में शिक्षा का स्तर आख़िर सुधरेगा कैसे?

 Share

यह कैसे हो सकता है कि हम सब अच्छे कॉलेज में जाने के लिए नर्सरी से लेकर बारहवीं तक 15 साल गुज़ार देते हैं और जब कॉलेज में जाते हैं तब पढ़ाने के लिए प्रोफेसर लेक्चरर न हों तो क्या यह छात्रों के 15 साल के साथ धोखा नहीं है? यह कैसे हो सकता है कि कॉलेज दर कॉलेज में प्रोफेसर, लेक्चरर नहीं हैं और समाज और परिवार को इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता है?



संबंधित

Advertisement