NDTV Khabar

रवीश कुमार का प्राइम टाइम : क्‍या क्‍लाइमेट चेंज का असर तेज हुआ?

 Share

पिछले 11 महीने में भारत में 5 बड़ी प्राकृतिक आपदाएं आई हैं. सबका एक ही कारण है जलवायु परिवर्तन. इसने लाखों लोगों को प्रभावित किया है. केरल की बाढ़. चेन्नई का सूखा, ओडिशा का साइक्लोन फोनी, भारत भर में भयंकर गरमी. मुंबई की बारिश. हम भूल चुके हैं कि मई और जून में तापमान आसमान छू रहा था. चुरू में 50 डिग्री सेल्सियम तापमान चला गया तो दिल्ली में अधिकतम तापमान के रिकॉर्ड टूटने लगे. लू के कारण बिहार में ही कितने लोगों की मौत हो गई. इसकी आधाकारिक संख्या तो नहीं है मगर मीडिया ने लू से मरने वालों की संख्या कहीं 185 लिखी है तो कहीं 150. चेन्नई में 198 दिनों तक कोई बारिश ही नहीं हुई. यह भी रिकॉर्ड है. दस साल में सबसे अधिक बारिश मुंबई में होती है यह भी रिकॉर्ड है. अगर आपका काम रिकॉर्ड से चलता है तो लिख लें, रट लें मगर प्राकृतिक आपदा आपकी तैयारियों का इम्तिहान लेने आ रही है और आपकी लापरवाही की सज़ा देने भी.



Advertisement