NDTV Khabar

रवीश कुमार का प्राइम टाइम : विधानसभा चुनाव से पहले झारखंड में दल-बदल

 Share

झारखंड में विधानसभा का चुनाव करीब आ रहा है. आज तीन अलग-अलग दलों के पांच विधायक भाजपा में शामिल हो गए. करीब आधा दर्जन रिटायर अधिकारी भी भाजपा में शामिल हो गए. इनमें से एक विधायक पर 130 करोड़ के दवा घोटाला का ट्रायल चल रहा है. इनका नाम है भानु प्रताप शाही. इनकी पार्टी का भाजपा में विलय कर लिया गया है. भानु प्रताप शाही मधु कोड़ा सरकार में मंत्री थे. दवा घोटाले में सीबीआई, ईडी ने चार्जशीट दायर कर दिया है. ट्रायल चल रहा है और भानु प्रताप शाही भाजपा में चले गए. भाजपा के नेता कहते हैं कि जब मधु कौड़ा की पत्नी गीता कौड़ा कांग्रेस से सांसद बनीं तो मीडिया ने सवाल क्यों नहीं उठाया. 2019 में गीता कोड़ा सिंहभूम से सांसद बनी है. अगर गीता कोड़ा पर सवाल नहीं उठा तो क्या इस दलील से 130 करोड़ के दवा घोटाले में ट्रायल फेस कर रहे भानु प्रताप शाही का विलय जायज है. सवाल ही कमाल का है. मधु कोड़ा पर तो भयंकर भयंकर आरोप हैं. उनकी पत्नी पर नहीं लगे थे. लेकिन यह बात नोट करना चाहिए कि मधु कोड़ा ने अक्तूबर 2018 में कांग्रेस ज्वाइन किया था. मधु कोड़ा सरकार में हुए घोटाले भाजपा के लिए मुख्य मुद्दा हुआ करते थे. रघुवर दास सरकार के मंत्री सरयु राय का राजनीतिक जीवन इस घोटाले को उजागर करने में निकल गया. सरयु राय ने मधु कोड़ा सरकार की लूट पर एक किताब भी लिखी है. अब उसी घोटालेबाज़ सरकार के एक मंत्री उनकी पार्टी में आ रहे हैं.



Advertisement