NDTV Khabar

रवीश कुमार का प्राइम टाइम : हमारी कौन सी नदी हमारे प्रकोप से बची हुई है?

 Share

भारत में एक नदी नहीं है जो प्रदूषित है, जिसमें शहरों का गंदा पानी मिल रहा है. दक्षिण पंजाब और राजस्थान के 15 जिले पानी के लिए सतलज नदी पर निर्भर हैं. लेकिन हमने सतलज का क्या हाल किया है. बिना साफ सफाई के नाले का पानी सतलज की धारा में मिल रहा है. हमें नहीं पता कि टीवी के स्क्रीन पर यह गंदा पानी कितना गंदा दिख रहा है लेकिन आप ज़रा सा रंगों में फर्क कीजिए. अर्शदीप ने बताया कि सतलज की धारा जो दूर है वह मटमैली है और किनारे का पानी गंदा सा है जो नाले का है. बूढ़ा नाला कहते हैं. पहले इसका नाम बूढ़ा दरिया था. मगर फैक्ट्री से निकलने वाले गंदे पानी ने नदी को नाले में बदल दिया. सतलज में कई नदियों की धारा मिलती थी तभी तो इसका नाम सतलज पड़ा था. बूढ़ा दरिया नाला बन चुका है और इसके ज़रिए मेडिकल का कचरा भी बह रहा है. पंजाब की सतलज नदी में लुधियाना शहर का नाला मिल रहा है. नाले का गंदा पानी बगैर साफ हुए नदी में मिल रहा है और वहां से नदी का पानी राजस्थान पहुंच रहा है.



Advertisement