NDTV Khabar

कई साल गुज़र जाते हैं परीक्षा के इंतज़ार में?

103 Shares

रोज़गार के सवाल को पकौड़ा तलने का रूपक मिल जाए और रूपक गढ़ने वाले आर्कमिडिज़ का फार्मूला समझ कर उस पर कायम रहे तो रोज़गार को लेकर मारे मारे फिर रहे नौजवानों की चुनौतियां और बढ़ जाती हैं. वो अपने रोज़गार और उसे देने की सरकारी व्यवस्था को लेकर सवाल पूछ रहे हैं मगर पूछने से पहले उन्हें पकौड़े का फार्मूला थमा दिया जा रहा है. पकौड़ा रोज़गार के कठिन सवाल को आसान और क्रूर मज़ाक के रूप में सबके हाथ लग गया है. सोशल मीडिया में सब पकौड़े तल रहे हैं.



संबंधित

ख़बरें

Advertisement