NDTV Khabar

रणनीति: संसद से बनेगा राम मंदिर?

 Share

अयोध्या ज़मीन विवाद की सुनवाई 10 दिन बाद देश के सर्वोच्च न्यायालय में शुरू होने वाली है. भारत के चीफ जस्टिस की अगुवाई में 3 जजों की बेंच इस बात पर सुनवाई शुरू करेगी कि अयोध्या की विवादीत ज़मीन पर किसका मालिकाना हक़ है. लेकिन इससे पहले की देश की कानूनी प्रक्रिया शुरू हो. विजय दशमी से पहले अपने भाषण में RSS प्रमुख मोहन भागवत ने राम मंदिर के निर्माण के लिए कानून बनाने की बात कही है. दरअसल विश्व हिंदु परिषद की ही मांग का ये समर्थन है जो पहले ही ये मांग कर चुके हैं कि देश के करोड़ों हिंदुओं की भावनाओं को देखते हुए 6 दिसंबर से पहले सरकार मंदिर बनाने के लिए कानून लाए.



Advertisement