NDTV Khabar

रणनीति: पाकिस्तान के चुनाव क्या सच में लोकतात्रिक हैं?

 Share

जब पाकिस्तान में वोटिंग चल रही थी तभी क्वोटा में एक फिदायीन हमले में 31 लोग मारे गए. इस चुनाव के पहले कैंपेन के दौरान पाकिस्तान ने कई बड़े हमले देखे हैं, जिसमें उम्मीदवारों को निशाना बनाया गया है. रैलियों पर हमले किए गए. ऐसे ही एक हमले में बलूचिस्तान सूबे में 151 लोग मारे गए थे. इस हिंसा और नतीजों को प्रभावित करने की तमाम कोशिशों के बाद ये चुनाव हो रहे हैं. इस चुनाव में 10 कोरड़ 60 लाख मतदाता पंजीकृत हैं. पूर्व क्रिकेटर इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ को उम्मीद है कि वो पाकिस्तान में अब तक चले आ रहे दो पार्टी सिस्टम को तोड़कर अपनी जगह बनाएगी. अपने 70 सालों के इतिहास में पाकिस्तान एक आधे अधूरे लोकतंत्र और पूर्ण सैन्य शासन के बीच झूलता रहा है. इस दौरान ये इस्लामिक चरमपंथ के पनाहगाह में भी बदल गया. नेशनल असेंबली की 272 सीटों के लिए आज वोटिंग हुई है.



Advertisement