Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

देवरानी अपर्णा के लिए जेठानी डिंपल ने मांगे वोट, मुलायम ने भी किया प्रचार

देवरानी अपर्णा के लिए जेठानी डिंपल ने मांगे वोट, मुलायम ने भी किया प्रचार

खास बातें

  • मुलायम सिंह यदाव ने छोटी बहू अपर्णा यादव के लिए जनसभा की
  • कहा - अपर्णा के चुनाव से मेरा सम्मान भी जुड़ा है, इसलिए उसे जिता दें
  • अपर्णा लखनऊ कैंट से समाजवादी पार्टी की उम्मीदवार हैं
लखनऊ:

मुलायम सिंह यदाव ने बुधवार को अपनी छोटी बहू अपर्णा यादव के लिए जनसभा की और अपने सम्मान के नाम पर वोट मांगे. मुलायम के बाद उनकी बड़ी बहू और अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव भी अपर्णा के लिए जनसभा की. अपर्णा लखनऊ कैंट से समाजवादी पार्टी और कांग्रेस गठबंधन की उम्मीदवार है. मुलायम की रैली में कांग्रेस के लोग भी मौजूद रहे. मुलायम अपनी छोटी बहू के लिए वोट मांगने जनता के बीच पहुंचे. इस चुनाव में अभी तक उन्होंने सिर्फ़ अपने छोटे भाई शिवपाल के लिए इटावा में दो रैलियां की हैं. मुलायम ने कहा कि अपर्णा के चुनाव से मेरा सम्मान भी जुड़ा है, इसलिए उसे जिता दें.

मुलायम के परिवार में अखिलेश को लेके भले आपस में मनमुटाव हो लेकिन डिंपल हुमेशा उससे डोर रही हैं. डिंपल ने भी अपर्णा के लिए जनसभा कर उनके लिए प्रचार किया. इस तरह यह संदेश देने की भी कोशिश है की परिवार में सब एक हैं.

मुलायम ने कहा, "हमारी अपील है कि आप अपर्णा को भारी बहुमत से जिताइए. आपसे अपील करता हूं कि सम्मान हमारा जुड़ा हुआ है. वैसे हम यह बात सम्मान की करते  नहीं. आज इसलिए बोला है कि अपर्णा हमारे लड़के की पत्नी है. हमारी बहू है. आपकी भी बहू है. किसी की बहू हो सकती है. आप यह मान के चलना."

यूनिवर्सिटी ऑफ मैनचेस्टर से अंतर्राष्ट्रीय संबंध और राजनीति में पोस्ट ग्रेजुएशन करने वाली अपर्णा अब सीधे सियासी अखाड़े में हैं. यह उनका पहला चुनाव है और मुक़ाबला है हाल ही में कांग्रेस से बीजेपी में गई रीता बहुगुणा जोशी से.

अपर्णा यादव ने कहा, "बहुत सारे लोग आजकल दल-बदल के घूम रहे हैं. जो अपने दल का नहीं हुआ वो आपका क्या होगा. क्या होगा वो आपका ? मुलायम ने तफ़सील से बताया कि उन्हों समाज के अलग-अलग तबक़े के लिए क्या-क्या किया. उन्होंने अपर्णा के विधानसभा क्षेत्र की हर समस्या दूर करने का वादा किया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर वादाखिलाफी का आरोप लगाया.

मुलायम ने तंज कसते हुए कहा, "आज मोदी साहब बनारस से लोकसभा के मेंबर हैं इसीलिए वो आज प्रधानमंत्री हैं. उत्तरप्रदेश की वजह से प्रधानमंत्री हैं लेकिन उन्होंने जो वादे किए थे वो पूरा नहीं किए. उन्होंने क्या कहा था कि साधारण नागरिक को 15-15 लाख रुपया देंगे, वे 15-15 रुपया भी नहीं दिए. 15 रुपये भी नहीं दिए."