NDTV Exclusive : वसुंधरा राजे ने कहा- धर्म या नफरत नहीं, आम अपराध ही है लिंचिंग

NDTV के एग्ज़ीक्यूटिव को-चेयरपर्सन डॉ प्रणय रॉय ने की राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से बातचीत

NDTV Exclusive : वसुंधरा राजे ने कहा- धर्म या नफरत नहीं, आम अपराध ही है लिंचिंग

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे (फाइल फोटो).

खास बातें

  • वसुंधरा राजे ने कहा कि वे चुनाव को लेकर काफी सकारात्मक
  • दावा किया कि नौ माह में उन्होंने काफी व्यवस्थित ढंग से काम किया
  • कहा- लिंचिंग अपराध है और अपराधियों को सजा मिलनी चाहिए
नई दिल्ली:

राजस्थान में सात दिसंबर को वोट डाले जाने हैं जिससे ये फैसला होगा कि वसुंधरा राजे अपनी बीजेपी की सरकार बचा पाएंगी या नहीं? राजस्थान में पिछले दिनों गोकशी के नाम पर लिंचिंग की कुछ वारदातें हुईं लेकिन वसुंधरा राजे का कहना है कि ऐसे मामलों को धर्म या नफ़रत की बजाय एक आम अपराध की तरह देखना चाहिए, अपराधियों को सज़ा मिलनी चाहिए.

वसुंधरा राजे से NDTV के एग्ज़ीक्यूटिव को-चेयरपर्सन डॉ प्रणय रॉय ने बात की.

वसुंधरा राजे से जब पूछा गया एक महिला मुख्यमंत्री के नाते आपकी पार्टी के लिए, आपकी लीडरशिप के लिए क्या यह कठिन समय है. आप किस तरह से इस स्थिति का सामना कर रही हैं? वसुंधरा राजे ने कहा कि इसमें जेंडर का कोई मामला नहीं है. यदि हम तय कर लेते हैं कि चलना है तो हम आंख बंद करके चलते जाते हैं. फिर सवाल नहीं होता कि आपको महिला के रूप में रुफ्यूज किया जाएगा या स्वीकार किया जाएगा.

यह भी पढ़ें :राजस्थान में BJP ने जारी किया घोषणा पत्र: 50 लाख नौकरियों का वादा, बेरोजगारों को 5 हजार रुपये का भत्ता

चुनाव को कुछ ही दिन बाकी हैं. किस तरह के हालात हैं? इस प्रश्न पर वसुंधरा राजे ने कहा कि मैं सकारात्मक हूं. नौ माह से हमने काफी व्यवस्थित ठंग से काम किया है. पार्टी के सभी लोग चुनाव में जुटे हैं. सात तारीख को चुनाव के साथ यह खत्म होगा. उन्होंने कहा कि हम खुश हैं. जनता का जो सामान्य मूड है, ठीक है. हम अपने तय कार्यक्रम के हिसाब से आगे जाएंगे.

Newsbeep

VIDEO : राजस्थान में सत्ता बचा पाएंगी वसुंधरा?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


राजस्थान में लिंचिंग के मामले, इनको लेकर राजनीति और धार्मिक विद्वेष जैसे मुद्दों को लेकर पूछे गए प्रश्न पर वसुंधरा राजे ने कहा कि लिंचिंग या इस तरह की घटनाएं ठीक नहीं हैं. इसे हम धर्म या नफरत के  मामलों से अलग देखते हैं. यह मर्डर है. लॉ और आर्डर का मामला है जिन पर तुरंत कार्रवाई की गई है. लिंचिंग अपराध है. अपराधियों को सजा मिलनी चाहिए और सजा मिल भी रही है.