NDTV Khabar

हनुमान जी को दलित बताने वाले योगी आदित्यनाथ के बचाव में उतरीं सुषमा स्वराज, कही यह बात...

राजस्थान में एक चुनावी सभा के दौरान यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने हनुमान जी जो दलित, शोषित, वंचित बताया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
हनुमान जी को दलित बताने वाले योगी आदित्यनाथ के बचाव में उतरीं सुषमा स्वराज, कही यह बात...

राजस्थान में पत्रकारों के सवालों का जवाब देतीं विदेश मंत्री सुषमा स्वराज.

खास बातें

  1. सीएम योगी के बचाव में सुषमा स्वराज
  2. सुषमा ने कहा-उनका पूरा बयान नहीं सुना गया
  3. योगी ने हनुमान जी को दलित बताया था
नई दिल्ली:

राजस्थान में चुनाव-प्रचार जोर-शोर से चल रहा है. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) जयपुर पहुंची हुई हैं. उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राहुल गांधी पर हमले किए. उन्होंने कहा कि अब राहुल गांधी से जानना होगा कि हिंदू होने का मतलब क्या है? पहले उनकी धर्मनिरपेक्ष छवि रही है, लेकिन चुनाव आने पर उन्हें अपना हिंदू होना याद आ रहा है. कई बयानों का ज़िक्र कर सुषमा ने उनपर निशाना साधा. इसके अलावा जब उनसे योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के हनुमान जी पर दिए गए बयान के बारे में पूछा गया तब उन्होंने कहा कि उनकी बात का गलत मतलब निकाला गया. सुषमा स्वराज ने कहा कि अगर उनके बयान को आप पूरा सुनेंगे तब आपको पता चलेगा कि उन्होंने क्या कहा. बता दें कि राजस्थान में एक चुनावी सभा के दौरान यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हनुमान जी जो दलित, शोषित, वंचित बताया था.
 


सुषमा ने कहा कि मैंने योगी जी से इस बारे में राजस्थान आने से पहले बात की, क्योंकि यह राजस्थान में ही कहा गया था. उन्होंने कहा, 'योगी जी ने मुझसे कहा कि मेरा अंतिम वाक्य किसी ने नहीं सुना. मैंने अंत में मैंने कहा था कि हनुमान जी हम सब के तारणहार हैं. बता दें कि राजस्थान के अलवर में बीते मंगलवार को एक रैली को संबोधित करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि 'बजरंगबली एक ऐसे लोक देवता हैं, जो स्वंय वनवासी हैं, निर्वासी हैं, दलित हैं, वंचित हैं. भारतीय समुदाय को उत्तर से लेकर दक्षिण तक पूरब से पश्चिम तक सबको जोड़ने का काम बजरंगबली करते हैं.' सीएम योगी के इस बयान के बाद सोशल मीडिया पर उनकी खूब आलोचना हो रही है. ट्विटर, फेसबुक पर कई तरह के मेम्स बनाए जा रहे हैं. बता दें कि इससे पहले शहरों के नामों को लेकर भी योगी आदित्यनाथ विवादों में रहे हैं. 

यह भी पढ़ें: सीएम योगी के उलट हनुमान जी की जाति पर अब पीएम मोदी के मंत्री का दावा: वह आर्य थे


इन सबसे के बीच हनुमान जी की जाति को लेकर मोदी सरकार में मंत्री सत्यपाल सिंह (Satypal Singh) का कहना है कि हनुमान जी आर्य थे. केंद्रीय मंत्री सत्यपाल मलिक ने कहा कि भगवान राम और हनुमान जी के युग में कोई जाति-व्यवस्था नहीं थी. इसलिए हनुमान जी आर्य थे. 

टिप्पणियां

VIDEO : मध्य प्रदेश में हनुमान जी को भेजा नोटिस

शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह ने कहा कि 'भगवान राम और हनुमान जी के युग में इस देश में कोई जाति व्यवस्था नहीं थी, कोई दलित, वंचित, शोषित नहीं था. वाल्मीकि रामायण और रामचरितमानस को आप पढ़ेंगे तो आपको मालूम चलेगा कि उस समय को जाति व्यवस्था  नहीं थी.' उन्होंने आगे कहा कि 'हनुमान जी आर्य थे. इस बात को मैंने स्पष्ट किया है, उस समय आर्य जाति थी और हनुमान जी उसी आर्य जाति के महापुरुष थे.'


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement