NDTV Khabar

शराबबंदी और अन्‍य विकास योजनाओं की समीक्षा के लिए है यह बिहार यात्रा

राज्य सरकार ने शुरू से ही लोक शिकायतों के निवारण एवं क्षेत्रीय निरीक्षण, समीक्षा एवं लोक संवाद को सर्वोंच्च प्राथमिकता दी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शराबबंदी और अन्‍य विकास योजनाओं की समीक्षा के लिए है यह बिहार यात्रा

बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

वर्ष 2005 में राज्य में काम करने का अवसर मिलने के उपरान्त न्याय के साथ विकास के सिद्धान्त पर पारदर्शी एवं उत्तरदायी प्रशासन के साथ-साथ विकास योजनाओं के कार्यान्वयन से होने वाले लाभों को लोगों तक उपलब्ध कराने की दिशा में कार्य प्रारंभ किया गया. सुशासन के लिए आवश्यक है कि शिकायतों का निवारण तथा जमीनी प्रतिक्रिया/सुझाव का प्रत्यक्ष ज्ञान लोक सेवकों को रहे. इसलिए राज्य सरकार ने शुरू से ही लोक शिकायतों के निवारण एवं क्षेत्रीय निरीक्षण, समीक्षा एवं लोक संवाद को सर्वोंच्च प्राथमिकता दी है. राज्य सरकार की नीतियों, योजनाओं एवं कार्यक्रमों के क्षेत्रीय कार्यान्वयन को जांचने, परखने एवं जमीनी हकीकत को जानने के लिए कई यात्राएं की गई हैं. वर्ष 2009 में विकास यात्रा, वर्ष 2009-10 में प्रवास यात्रा, वर्ष 2010 में विश्वास यात्रा, वर्ष 2011 में सेवा यात्रा एवं वर्ष 2016 में निश्चय यात्रा.

इन सभी यात्राओं की पृष्ठभूमि में कोई न कोई सार्थक उद्देश्य निर्धारित था तथा योजनाओं एवं कार्यक्रमों का क्षेत्रीय निरीक्षण, अनुश्रवण एवं समीक्षा, लोगों से संवाद एवं शिकायतों का निवारण, नई योजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास तथा जनसभा इन यात्राओं के मुख्य अवयव थे. इन यात्राओं का उद्देश्य न सिर्फ सरकार के नीति एवं कार्यक्रमों के कार्यान्वयन को देखना है बल्कि नीतियों एवं कार्यक्रमों में आवश्यकतानुसार परिमार्जन करना तथा राज्य के लोगों की समस्या से अवगत होना है. राज्य स्तर पर सिर्फ योजनाएं बना लेने से कुछ नहीं होता जबतक जमीन पर जाकर उसकी समीक्षा न की जाय, कार्यान्वयन को न देखा जाय तथा लोगों से न मिलकर उनकी बातों को न सुना जाय.

राज्य सरकार का मानना है कि मात्र वैधिक तंत्र तथा उचित नीतिगत वातावरण से योजनाओं एवं कार्यक्रमों का सफल कार्यान्वयन सुनिश्चित नहीं होता है, आवश्यक है कि धरातल पर क्रियान्वयन की प्रत्यक्ष जानकारी से अवगत हुआ जाए. इन यात्राओं के माध्यम से जमीनी जानकारी एवं अनुभव तथा मध्य-कालीन सुधारों के माध्यम से समस्याओं का निराकरण करने, अस्पष्टताओं एवं कमियों को समाप्त करने का प्रयास किया गया है. कई अवसरों पर नई नीतियों एवं कार्यक्रमों का आधार इन्हीं यात्राओं के दौरान प्राप्त अनुभवों से सृजित हुआ है.

इन यात्राओं की एक बड़ी विशिष्टता यह भी है कि सभी विभागों के पदाधिकारी भी उपस्थित रहते हैं जिसके कारण स्थल पर ही नीतिगत मुद्दों पर तत्क्षण निर्णय लेना संभव होता है और विभिन्न विभागों के बीच समन्वय सुगमता पूर्वक संभव हो पाता है. 'विकास योजनाओं की समीक्षा यात्रा’ का कार्यक्रम दिसम्बर एवं जनवरी माह में 7 चरणों में प्रस्तावित है. इस यात्रा के दौरान सुशासन के कार्यक्रम के तहत विकसित बिहार के 7 निश्चय एवं अन्य कार्यक्रमों का क्षेत्रीय क्रियान्वयन का निरीक्षण एवं अनुश्रवण किया जाएगा, जनसभा आयोजित कर राज्य सरकार के सामाजिक अभियान यथा- शराबबंदी-नशामुक्ति, बाल-विवाह एवं दहेज प्रथा पर बात रखी जाएगी तथा जिला स्तर पर समीक्षा बैठक आयोजित की जाएगी.

इस समीक्षा बैठक में जहां एक ओर विकसित बिहार के 7 निश्चय से संबंधित योजनाओं, लोक सेवाओं तथा लोक शिकायतों के निवारण की प्रगति, ग्रामीण विकास, कृषि रोड मैप, मानव संसाधन से संबंधित कार्यक्रम, विधि-व्यवस्था तथा पूर्व बैठकों के अनुपालन आदि की समीक्षा होगी वही दूसरी ओर जनप्रतिनिधियों की भी अपनी बाते रखने का अवसर मिलेगा. मुख्य सचिव, विकास आयुक्त, पुलिस महानिदेशक सहित सभी संबंधित विभागों के प्रधान सचिव/सचिव प्रत्यक्ष अथवा विडियों कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इन समीक्षा बैठकों में उपस्थित रहेगे.

प्रथम चरण 12 दिसम्बर से पश्चिम चंपारण जिले के बगहा अनुमंडल के पतिलार गांव से शुरू हो रहा है. इस यात्रा के दौरान उन सभी गांवों में जाने की इच्छा है जहां वर्ष 2009 के विकास यात्रा के दौरान जाया गया था. उस यात्रा के दौरान कार्यक्रम स्थलों पर की गई विशिष्ट बातों तथा घोषणाओं के अनुपालन की भी समीक्षा की जाएगी तथा जनसभा में भी भाग लिया जाएगा.

टिप्पणियां
(नीतीश कुमार बिहार के मुख्‍यमंत्री हैं)

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति एनडीटीवी उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार एनडीटीवी के नहीं हैं, तथा एनडीटीवी उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement