करण जौहर ने फिल्म 'कभी खुशी कभी गम' को लेकर दिया बड़ा बयान, बोले- यह मेरे चेहरे पर एक तमाचा है

करण जौहर (Karan Johar) का कहना है कि साल 2001 में आई उनकी फिल्म 'कभी खुशी कभी गम' (Kabhi Khushi Kabhie Gham) उनके चेहरे पर एक बड़ा तमाचा है.

करण जौहर ने फिल्म 'कभी खुशी कभी गम' को लेकर दिया बड़ा बयान, बोले- यह मेरे चेहरे पर एक तमाचा है

करण जौहर (Karan Johar)

खास बातें

  • करण जौहर ने अपनी फिल्म को लेकर दिया बड़ा बयान
  • 'कभी खुशी कभी गम' को लेकर दिया बयान
  • बोले- यह मेरे चेहरे पर एक तमाचा है
नई दिल्ली:

करण जौहर (Karan Johar) का कहना है कि साल 2001 में आई उनकी फिल्म 'कभी खुशी कभी गम' (Kabhi Khushi Kabhie Gham) उनके चेहरे पर एक बड़ा तमाचा है और इसके साथ ही यह वास्तविकता से उनका सीधा सामना भी रहा है. करण ने कहा, "मैंने सोचा था कि मैं 'मुगल-ए-आजम' के बाद से आमिर खान की फिल्म 'लगान' और फरहान अख्तर की फिल्म 'दिल चाहता है' तक हिंदी सिनेमा की सबसे बड़ी फिल्म बना रहा हूं." करण जौहर का पहला और मुख्य लक्ष्य फिल्म में एक बड़ी स्टार कास्ट को शामिल करना था.

नोरा फतेही ने रैपर बादशाह को दिन में दिखाए तारे, डरा-डराकर किया बुरा हाल- देखें Video

करण जौहर (Karan Johar) ने कहा, "'कभी खुशी कभी गम' मेरे चेहरे पर एकमात्र सबसे बड़ा तमाचा था और वास्तविकता से मेरा सामना भी था." यह फिल्म पारिवारिक पृष्ठभूमि पर आधारित थी. फिल्म में अमिताभ बच्चन, जया बच्चन, शाहरुख खान, काजोल, ऋतिक रोशन और करीना कपूर जैसे बड़े सितारे मुख्य भूमिकाओं में थे और इनके साथ ही रानी मुखर्जी ने भी इसमें एक छोटा सा किरदार निभाया था.

नेहा कक्कड़ के नए अंदाज ने TikTok पर मचाई धूम, बार-बार देखा जा रहा Video

करण जौहर (Karan Johar) ने ऑडिबल सुनो के शो 'पिक्चर के पीछे' में फिल्म के बारे में खुलासा किया. उन्होंने कहा कि समीक्षा और पुरस्कारों के मामले में फिल्म को मिली खराब प्रतिक्रिया से वह हैरान हो गए थे.

...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com