NDTV Khabar

अप्रैल-दिसंबर के दौरान डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन 18 फीसदी बढ़ा

दिसंबर 2017 तक अग्रिम कर के रूप में 3.18 लाख करोड़ रुपये की राशि प्राप्त हुई है, जो पिछले वर्ष की समान अवधि में अदा किए गए अग्रिम कर की तुलना में 12.7 फीसदी अधिक है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अप्रैल-दिसंबर के दौरान डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन 18 फीसदी बढ़ा

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली: चालू वित्त वर्ष में अप्रैल और दिसंबर के बीच देश का प्रत्यक्ष कर (डायरेक्ट टैक्स) संग्रह 6.56 लाख करोड़ रुपये रहा, जो पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में 18.2 फीसदी अधिक है. वित्त मंत्रालय द्वारा जारी बयान में कहा गया कि दिसंबर 2017 तक हुए प्रत्यक्ष कर संग्रह के अनंतिम आंकड़ों से पता चला है कि इस दौरान 6.56 लाख करोड़ रुपये का शुद्ध संग्रह हुआ है, जो पिछले वर्ष की समान अवधि में हुए शुद्ध संग्रह की तुलना में 18.2 फीसदी अधिक है. केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के मुताबिक, प्रत्यक्ष करों का शुद्ध संग्रह वित्त वर्ष 2017-18 के लिए प्रत्यक्ष करों के कुल बजट अनुमानों (9.8 लाख करोड़ रुपये) का 67 फीसदी है.

यह भी पढ़ें : 2017-18 में जीडीपी ग्रोथ घटकर 6.5 फीसदी रहने की उम्मीद

अप्रैल-दिसंबर 2017 के दौरान प्रत्यक्ष करों का सकल संग्रह (रिफंड के लिए समायोजन से पहले) 12.6 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 7.68 लाख करोड़ रुपये के स्तर पर पहुंच गया. अप्रैल-दिसंबर 2017 के दौरान 1.12 लाख करोड़ रुपये के रिफंड जारी किए गए हैं.

यह भी पढ़ें : आंकड़े साबित करते हैं कि मंदी की चपेट में है देश : चिदंबरम

दिसंबर 2017 तक अग्रिम कर के रूप में 3.18 लाख करोड़ रुपये की राशि प्राप्त हुई है, जो पिछले वर्ष की समान अवधि में अदा किए गए अग्रिम कर की तुलना में 12.7 फीसदी अधिक है.

टिप्पणियां
VIDEO : नोटबंदी, जीएसटी के असर से उबर गई है अर्थव्यवस्था?
कॉरपोरेट आयकर (सीआईटी) से जुड़े अग्रिम कर में 10.9 फीसदी और व्यक्तिगत आयकर (पीआईटी) से जुड़े अग्रिम कर में 21.6 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement