NDTV Khabar

देश का वित्तीय घाटा सालाना लक्ष्य के 91 फीसदी के पार

नियंत्रक महालेखापरीक्षक (सीजीए) द्वारा जारी आंकड़े में कहा गया है कि पिछले वित्त वर्ष की अप्रैल-सितंबर छमाही के दौरान वित्तीय घाटा बजटीय लक्ष्य का 83.9 फीसदी था. 

6 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
देश का वित्तीय घाटा सालाना लक्ष्य के 91 फीसदी के पार

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:

चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही के दौरान देश का वित्तीय घाटा बजटीय लक्ष्य का 91 फीसदी से अधिक है, जो 4.99 लाख करोड़ रुपये है. जबकि पूरे वित्त वर्ष के लिए 5.46 लाख करोड़ रुपये का लक्ष्य रखा गया था. आधिकारिक आंकड़ों से मंगलवार को यह जानकारी मिली. नियंत्रक महालेखापरीक्षक (सीजीए) द्वारा जारी आंकड़े में कहा गया है कि पिछले वित्त वर्ष की अप्रैल-सितंबर छमाही के दौरान वित्तीय घाटा बजटीय लक्ष्य का 83.9 फीसदी था. 

टिप्पणियां

यह भी पढ़ें : वित्तीय घाटा दूसरी तिमाही में सालाना बजटीय लक्ष्य का 92 फीसदी


सीजीए के आंकड़ों के मुताबिक, समीक्षाधीन अवधि में कर राजस्व कुल 6.23 लाख करोड़ रुपये रहा, जो कि बजट अनुमान का 41.1 फीसदी है. वहीं, राजस्व और गैर ऋण पूंजी मिलाकर कुल प्राप्ति चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में 6.50 लाख करोड़ रुपये रही, जो कि वर्तमान वित्त वर्ष के अनुमान का 40.6 फीसदी है. (IANS)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


6 Shares
(यह भी पढ़ें)... 2014 का चायवाला 2019 में चौकीदार हुआ!

Advertisement