एक बार फिर से जीएसटी के शीर्ष स्लैब्स की समीक्षा कर सकती है सरकार

जीएसटी को लेकर सरकार एक बार फिर से उसकी समीक्षा करने का विचार कर रही है.

एक बार फिर से जीएसटी के शीर्ष स्लैब्स की समीक्षा कर सकती है सरकार

अरुण जेटली (फाइल फोटो)

मुंबई:

जीएसटी को लेकर सरकार एक बार फिर से उसकी समीक्षा करने का विचार कर रही है. करीब 200 वस्तुओं पर पिछले महीने माल एवं सेवा कर (जीएसटी) की दर घटाने के बाद सरकार ने शनिवार को संकेत दिया कि वह 28 प्रतिशत के शीर्ष स्लैब में शामिल वस्तुओं की समीक्षा कर सकती है.

यह भी पढेें - जीएसटी के बाद मोदी सरकार का पहला आम बजट एक फरवरी को

वित्त मंत्री अरुण जेटली की अगुवाई वाली जीएसटी परिषद ने 10 नवंबर को करीब 200 उत्पादों पर जीएसटी की दर घटा दी थी. इनमें चुइंग गम, चॉकलेट, सौंदर्य उत्पाद, विग और हाथ की घड़ियां शामिल हैं. रोजमर्रा के इस्तेमाल वाली 178 वस्तुओं को 28 प्रतिशत से 18 प्रतिशत के कर स्लैब में लाया गया था. इसके अलावा एसी और गैर एसी रेस्तरां के लिए पांच प्रतिशत की दर तय की गई थी.

यह भी पढ़ें - GST पर राहुल गांधी का विचार 'मूर्खतापूर्ण', क्या चप्पल और BMW कार पर समान टैक्स लगाया जा सकता है : अरुण जेटली

केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री शिव प्रताप शुक्ला ने शनिवार शाम मुंबई में एक कार्यक्रम में कहा, 'हमने पहले ही जीएसटी की 12 प्रतिशत को घटाकर पांच प्रतिशत और पांच प्रतिशत को छह उत्पादों पर शून्य कर दिया है. आगे चलकर हम 28 प्रतिशत के कर स्लैब की समीक्षा करेंगे.' जीएसटी परिषद ने पहले ही 28 प्रतिशत की स्लैब में वस्तुओं की संख्या घटाकर 50 कर दी है. पहले इस स्लैब में 228 उत्पाद थे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: जीएसटी पर अब क्या कहते हैं कपड़ा व्यापारी

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)