NDTV Khabar

देश का चालू खाते का घाटा दूसरी तिमाही में हुआ दोगुना, 7.2 अरब डॉलर पर पहुंचा

भारत का चालू खाता घाटा (कैड) दूसरी तिमाही में सालाना आधार पर दो गुने से अधिक बढ़कर 7.2 अरब डॉलर पर पहुंच गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
देश का चालू खाते का घाटा दूसरी तिमाही में हुआ दोगुना,  7.2 अरब डॉलर पर पहुंचा

फाइल फोटो

नई दिल्ली: भारत का चालू खाता घाटा (कैड) दूसरी तिमाही में सालाना आधार पर दो गुने से अधिक बढ़कर 7.2 अरब डॉलर पर पहुंच गया. यह सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का 1.2 प्रतिशत है. इसका मुख्य कारण तेल का बढ़ा आयात खर्च है.

रिजर्व बैंक ने बुधवार को कहा कि 'हालांकि पहली तिमाही की तुलना में दूसरी तिमाही में चालू खाता घाटा कम हुआ है.' पहली तिमाही में यह 15 अरब डॉलर यानी जीडीपी का 2.5 प्रतिशत रहा था.

यह भी पढ़ें - देश में चालू खाते का घाटा बढ़कर पहली तिमाही में 14.3 अरब डालर हुआ

पिछले वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में कैड 3.4 अरब डॉलर यानी जीडीपी का 0.6 प्रतिशत रहा था. सामान्य अर्थों में कैड का मतलब एक अवधि में विदेशी विनिमय के लेन देन का अंतर होता है.

टिप्पणियां
रिजर्व बैंक ने कहा, ‘सालाना आधार पर कैड में वृद्धि मुख्यत: निर्यात के मुकाबले आयात का बढ़ना रहा है.’

VIDEO: संसद से बाहर होगा अंतरिम बजट भाषण?


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement