NDTV Khabar

निफ्टी ने रचा इतिहास, छुआ 10,000 का स्तर, दुनिया के 'टॉप परफॉर्मर्स' में शामिल, सेंसेक्स भी दौड़ा

इसी के साथ निफ्टी इस साल के 'दुनिया के टॉप परफॉर्मर' में शामिल हो गया है. इस साल अब तक निफ्टी ने लगभग 22% की तेजी हासिल की है.

118 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
निफ्टी ने रचा इतिहास, छुआ 10,000 का स्तर, दुनिया के 'टॉप परफॉर्मर्स' में शामिल, सेंसेक्स भी दौड़ा

निफ्टी ने आज इतिहास बनाया, पहली बार 10,000 का आंकड़ा छुआ; सेंसेक्स भी दौड़ा- प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. निफ्टी ने आज पहली बार 10,000 का स्तर छू लिया
  2. सेंसेक्स भी 100 अंक उछल गया
  3. निफ्टी दुनिया के इस साल के टॉप परफॉर्मर्स में शामिल
मुंबई: कारोबारी सप्ताह के दूसरे दिन नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के इंडेक्स निफ्टी ने वह रिकॉर्ड बना लिया जिसकी उम्मीद और इंतजार पिछले कुछ समय से किया जा रहा था लेकिन यह मौका हफ्ता खुलते ही आ जाएगा, ऐसा किसी ने नहीं सोचा होगा! निफ्टी ने आज इतिहास बनाते हुए 10,000 का स्तर छू लिया. दरअसल, पिछले कारोबारी सेशन में भी निफ्टी 10,000 के इर्द गिर्द ही बंद हुआ था. मंगलवार को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का बेंचमार्क इंडेक्स सेंसेक्स ने भी करीब 100 अंकों की उछाल भरी. इसी के साथ निफ्टी साल 2017 के 'दुनिया के टॉप परफॉर्मर' में शामिल हो गया है. इस साल अब तक निफ्टी ने लगभग 22% की तेजी हासिल की है.

यह भी पढ़ें : GST से 9% आर्थिक वृद्धि दर हासिल करने में मदद मिलेगी- नीति आयोग

न्यूज एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक, सेंसेक्स सुबह 09.37 बजे 65.79 अंकों की बढ़त के साथ 32,311.66 पर और निफ्टी भी लगभग इसी समय 20.10 अंकों की मजबूती के साथ 9,986.50 पर कारोबार करते देखे गए. बीएसई का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 104.84 अंकों की मजबूती के साथ 32350.71 पर, जबकि एनएसई का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 44.15 अंकों की बढ़त के साथ 10,010.55 पर खुला.

यह भी पढ़ें : शेयर बाजारों में शानदार उछाल, सेंसेक्स 32 हजार पार

सोमवार को आर्थिक वृद्धि के मोर्चे पर अच्छी खबर आई. अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष यानी आईएमएफ ने अपने विश्व आर्थिक परिदृश्य में चालू वित्त वर्ष के लिए भारत की वृद्धि दर के अनुमान को 7.2 प्रतिशत पर कायम रखा और कहा कि 2017 और 2018 में भी भारत आर्थिक वृद्धि के मामले में चीन को पीछे छोड़ देगा.

यह भी पढ़ें : इस खास क्षेत्र में भारत ने चीन को पछाड़ा, आगामी एक दशक तक रहेगा आगे

वहीं, नीति आयोग के उपाध्यक्ष अरविंद पनगढ़िया ने भी कहा कि भारत की आर्थिक वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष 7.5 प्रतिशत रहने का अनुमान है. पनगढ़िया ने कहा, 'मेरा अनुमान है कि चालू वित्त वर्ष 2017-18 में आर्थिक वृद्धि दर कम-से-कम 7.5 प्रतिशत रहेगी. साल की अंतिम तिमाही की ओर बढ़ने के साथ हम आठ प्रतिशत वृद्धि दर हासिल करने लगेंगे. लेकिन औसत वृद्धि दर 7.5 प्रतिशत रहेगी.'

यह भी पढ़ें : भारत की बढ़ती ताकत को चीन की मीडिया ने माना, दी शांत रहने की सलाह

बता दें कि उम्मीद से बेहतर तिमाही नतीजों से बैंकिंग स्टॉक्स में सोमवार को जोरदार तेजी देखी गई और यही वजह थी कि चलते निफ्टी 10,000 अंक के करीब पहुंच गया था. वहीं सेंसेक्स नए रिकॉर्ड स्तर 32,246 अंक पर पहुंच गया था. बाजार की तेजी में तेल एवं गैस, बैंकिंग, आईटी और एफएमसीजी शेयरों में लिवाली का भी खास योगदान रहा. 

इनपुट : एजेंसियां
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement