NDTV Khabar

गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनावों के नतीजों का असर : सुबह 800 अंक लुढ़का, अब 135 अंक तेजी पर सिमटा सेंसेक्स

जानकारों की नजर में, आज निवेशकों की निगाह वैश्विक कारकों मसलन अमेरिकी कर सुधारों तथा कच्चे तेल की कीमतों पर भी रहेंगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनावों के नतीजों का असर : सुबह 800 अंक लुढ़का, अब 135 अंक तेजी पर सिमटा सेंसेक्स

शेयर बाजार पर देखा गया गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनावों के नतीजों का असर (प्रतीकात्मक फोटो)

खास बातें

  1. गुजरात और हिमाचल प्रदेश चुनावों में बीजेपी जीती
  2. सेंसेक्स और निफ्टी तेजी के साथ बंद हुए
  3. आज सुबह सेंसेक्स और निफ्टी में तेज गिरावट देखी गई
मुंबई: गुजरात- हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव परिणामों के असर से सुबह 800 अंक डूबने वाला सेंसेक्स अब 138 अंक तेजी पर बंद हुआ. सेंसेक्स 33,602 के स्तर पर बंद हुआ जबकि निफ्टी 55.50 अंकों की तेजी के साथ 10,389 के स्तर पर बंद हुआ. गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनावों में कांग्रेस और बीजेपी में कांटे की टक्कर के चलते शेयर बाजार आज निराशा के साथ कारोबार करते देखे गए हालांकि बाद में संभल गए.

आज सुबह सेंसेक्स में 800 अंकों की गिरावट दर्ज की गई. सुबह सवा नौ बजे सेंसेक्स 98 अंक लुढ़ककर 33,365 के स्तर पर देखा गया जबकि निफ्टी 70 अंक गिरावट के साथ 10,263  के स्तर पर कारोबार करता देखा गया. एक्जिट पोल में गुजरात और हिमाचल प्रदेश दोनों स्थानों पर भाजपा को पूर्ण बहुमत मिलते दिखाया गया है.

विशेषज्ञों ने कहा, अगले साल 40,000 के स्तर पर पहुंच जाएगा सेंसेक्स

हालांकि इसके बाद सेंसेक्स संभलता देखा गया. 10 बजकर 13 मिनट पर सेंसेक्स 224 अंकों की तेजी के साथ 33687 के स्तर पर कारोबार करता देखा गया. निफ्टी 77 अंक तेजी के साथ 10410 के स्तर पर कारोबार करता देखा गया.

जानकारों की नजर में, आज निवेशकों की निगाह वैश्विक कारकों मसलन अमेरिकी कर सुधारों तथा कच्चे तेल की कीमतों पर भी रहेंगी. कोटक सिक्योरिटीज की उपाध्यक्ष (पीसीजी शोध) टीना वीरमानी ने कहा कि आगे चलकर बाजार की दिशा चुनाव नतीजों तथा संसद के शीतकालीन सत्र से तय होगी. वैश्विक स्तर पर निवेशकों की निगाह अमेरिकी कर सुधारों तथा कच्चे तेल की कीमतों पर रहेगी.

टिप्पणियां
VIDEO : धंधा है पर मंदा है : आखिर क्यों घट रहा है मुनाफ़ा?

वहीं, सैमको सिक्योरिटीज के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिमीत मोदी ने कहा कि नतीजे आने के बाद बाजार में उत्साह का रुख आ सकता है. हालांकि, उसके बाद इसमें फिर करेक्शन शुरू हो सकता है. सिर्फ एक और सप्ताह तक बाजार में सक्रियता रहेगी. उसके बाद पूरी दुनिया में नए साल की छुट्टियों का मूड बन जाएगा. संसद की गतिविधियों पर बाजार की निगाह होगी.

इनपुट : भाषा
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement