कमजोर वैश्विक संकेतों तथा मुनाफावसूली से सोना लुढ़का

विश्लेषकों के अनुसार, सोने में नरमी का कारण वैश्विक स्तर पर आयी गिरावट है.

कमजोर वैश्विक संकेतों तथा मुनाफावसूली से सोना लुढ़का

प्रतीकात्मक चित्र

खास बातें

  • ब्रोकरों की मुनाफावसूली ने भी इसे कमजोर किया
  • अक्तूबर की आपूर्ति वाला सोना 219 रुपये गिरकर 30,049 रुपये प्रति दस ग्राम
  • इसमें 355 लॉट का कारोबार हुआ
नई दिल्ली:

वैश्विक बाजारों में एक साल के उच्चतम स्तर से लुढ़क जाने तथा डॉलर के मजबूत होने से सोमवार को वायदा कारोबार में सोना 0.74 प्रतिशत कमजोर होकर 30,210 रुपये प्रति दस ग्राम पर आ गया. ब्रोकरों की मुनाफावसूली ने भी इसे कमजोर किया. ‘मल्टी कमॉडिटी एक्सचेंज’ में दिसंबर की आपूर्ति वाला सोना 224 रुपये यानी 0.74 प्रतिशत टूटकर 30,210 रुपये प्रति दस ग्राम पर आ गया. इसमें 13 लॉट का कारोबार किया गया. इसी तरह अक्तूबर की आपूर्ति वाला सोना 219 रुपये गिरकर 30,049 रुपये प्रति दस ग्राम रहा. इसमें 355 लॉट का कारोबार हुआ.

विश्लेषकों के अनुसार, सोने में नरमी का कारण वैश्विक स्तर पर आयी गिरावट है. इसके अलावा उत्तर कोरिया के बारे में चिंताएं नरम पड़ने एवं अमेरिका में इरमा तूफान के कमजोर पड़ने से प्रमुख वैश्विक मुद्राओं की तुलना में डॉलर मजबूत हुआ है जिसका सोने के भाव पर प्रतिकूल असर पड़ा है.

यह भी पढे़ं : छत्तीसगढ़ में नकली सोना देकर 16 लाख रुपये ठगने वाले तीन आरोपी मध्यप्रदेश में गिरफ्तार

इसके अलावा ब्रोकरों की मुनाफावसूली ने भी इसके ऊपर दबाव डाला है.

VIDEOS : नई ऊंचाई पर बाजार, लेकिन क्या अर्थव्यवस्था में सुधार आया है?​
वैश्विक बाजार में सिंगापुर में सोना सोमवार को 0.69 प्रतिशत नीचे उतर कर 1,336.70 डॉलर प्रति औंस पर रहा. पिछले सप्ताह यह अगस्त 2016 के बाद के उच्चतम स्तर 1,357.54 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गया था.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com