क्या 1,000 रुपये का नोट दोबारा लाया जाएगा? सरकार ने दिया यह जवाब

200 रुपये के अलावा इसी महीने 50 रुपये का नया नोट भी जारी किया गया है. इस बीच ऐसी भी अटकलें लगाई जा रही थीं कि सरकार 1,000 रुपये का नया नोट फिर से ला सकती है.

क्या 1,000 रुपये का नोट दोबारा लाया जाएगा? सरकार ने दिया यह जवाब

पिछले साल नोटबंदी के तहत 500 और 1,000 रुपये के नोट बंद कर दिए गए थे

खास बातें

  • इसी महीने 200 रुपये का नोट किया गया जारी
  • 50 रुपये का नया नोट भी बाजार में आ चुका है
  • सरकार ने कहा, 1000 रुपये का नोट फिर से नहीं लाया जाएगा
नई दिल्ली:

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने 25 अगस्त को पीले रंग का 200 रुपये का नया नोट जारी किया था. इसका मकसद 100 और 500 के नोटों के बीच के मूल्य के नोट की कमी की भरपाई करना है. 200 रुपये के अलावा इसी महीने 50 रुपये का नया नोट भी जारी किया गया है. इस बीच ऐसी भी अटकलें लगाई जा रही थीं कि सरकार 1,000 रुपये का नया नोट फिर से ला सकती है. पिछले साल सरकार ने नोटबंदी के तहत 1,000 और 500 के नोट बंद कर दिए थे. बाद में 2000 रुपये और 500 का नया नोट जारी किया गया था.

यह भी पढ़ें: 200 रुपये का नया नोट जारी हुआ, जानें 5 खास बातें...

मंगलवार को वित्त मंत्रालय ने 1,000 रुपये का नोट फिर से लाने की संभावना को खारिज कर दिया. आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने ट्वीट किया, '1,000 रुपये का नोट फिर लाने को कोई प्रस्ताव नहीं है.' उनका यह बयान उन खबरों के बीच आया है कि सरकार 1,000 रुपये का नोट फिर ला सकती है. रिजर्व बैंक पहले ही कह चुका है कि वह 200 रुपये के नोट की आपूर्ति बढ़ाएगी.
 

वहीं पिछले सप्ताह वित्त मंत्री अरुण जेटली ने साफ कर दिया था कि सरकार का 2,000 के नोट पर बैन लगाने का कोई इरादा नहीं है. यह पूछे जाने पर कि क्या सरकार 2,000 रुपये के नोट को धीरे-धीरे चलन से हटाने पर विचार कर रही है, जेटली ने कहा था कि ऐसी कोई चर्चा नहीं है. बता दें कि 2000 रुपये के नोट की छपाई बंद करने का मामला 26 जुलाई को संसद में भी उठा था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: 2000 के नकली नोट का छापनेे वाले रैकेेट का पर्दाफाश
विपक्षी पार्टियों ने वित्त मंत्री से पूछा था कि क्या सरकार 2000 के नोट को विमुद्रीकृत करने जा रही है या फिर यह कि क्या इसकी छपाई रोक दी गई है, लेकिन उन्होंने इसका जवाब देने से इनकार कर दिया था.