CLAT 2020: क्‍लैट एग्जाम की तारीख जारी, परीक्षा में किए गए ये बड़े बदलाव

CLAT 2020: कंसोर्टियम ऑफ नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी (Consortium of National Law Universities) ने अगले साल होनी वाली कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट (क्लैट) परीक्षा (CLAT 2020) की तारीख की घोषणा कर दी है.

CLAT 2020: क्‍लैट एग्जाम की तारीख जारी, परीक्षा में किए गए ये बड़े बदलाव

10 मई को होनी है CLAT 2020 की परीक्षा.

खास बातें

  • 10 मई को होनी है CLAT 2020 की परीक्षा.
  • परीक्षा के पैटर्न में होगा बदलाव.
  • कंप्रिहेनसन पैटर्न में पूछे जाएंग सवाल.
नई दिल्ली:

CLAT 2019: कंसोर्टियम ऑफ नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी (Consortium of National Law Universities) ने अगले साल होनी वाली कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट (CLAT) परीक्षा की तारीख (CLAT 2020 Exam Date) की घोषणा कर दी है. अगले साल 10 मई 2020 को रविवार को क्लैट की परीक्षा आयोजित की जाएगी. बता दें परीक्षा को लेकर आधिकारिक नोटिफिकेशन दिसंबर के आखिरी हफ्ते में जारी कर दिया जाएगा. 1 जनवरी से उम्मीदवार परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे. बता दें कि क्लैट की परीक्षा (CLAT Exam) उन उम्मीदवारों के लिए आयोजित की जाती है जो देश की अलग-अलग नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में दाखिला लेना चाहते हैं. परीक्षा को लेकर कंसोर्टियम की बेंगलुरु में एक अहम बैठक हुई. जहां परीक्षा को लेकर सभी अहम मुद्दो पर चर्चा की गई. खास बात यह है कि अगले साल होने जा रही इस परीक्षा में थोड़ा बदलाव किया जाएगा.

यह भी पढ़ें- CTET Admit Card 2019: सीटेट एडमिट कार्ड मोबाइल पर एक क्लिक में करें डाउनलोड

कंसोर्टियम ने अंडरग्रेजुएट स्तर की इस प्रवेश परीक्षा में सवाल पूछे जाने के तरीके में बदलाव करने का मन बना लिया है. कंसोर्टियम ने आधिकारिक तौर पर बयान जारी कर कहा है कि अगले साल कंप्रिहैनसन से जुड़े सवाल पूछे जाएंगे. ये सवाल क्वांटिटेटिव टेकनीक, अंग्रेजी, समसामयिक मुद्दों व रीजनिंग से पूछे जाएंगें. बैठक में परीक्षा में पूछे जाने वाले सवालों की संख्या कम करने का फैसला भी किया है. पहले क्लैट की परीक्षा में 200 सवाल पूछे जाते थे, लेकिन अब सवालों की संख्या घटाकर 120 से 150 कर दी जाएगी.

यह भी पढ़ें- UP Police Result 2019: जारी हुआ यूपी पुलिस कॉन्सटेबल भर्ती परीक्षा का रिजल्ट, यहां करें चेक

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इस बदलाव पर बोलते हुए कंसोर्टियम के अध्यक्ष और नालसार यूर्निवर्सिटी के वीसी फैजान मुस्तफा ने बताया कि 2 घंटे की अवधि में छात्रों से 200 सवाल करना सही नहीं है, कहीं न कहीं इससे उम्मीदवरों पर अतिरिक्त दबाव बनता है. बता दें कि परीक्षा के लिए आवेदन ऑनलाइन तरीके से किया जाएगा जबकि परीक्षा ऑफलाइन तरीक से ही आयोजित की जाएगी. 
प्रो. मुस्तफा का कहना है कि हमने यह फैसला इसलिए भी लिया है ताकि अधिक से अधिक योग्य और सक्षम उम्मीदवारों को नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में दाखिला मिले.

साथ ही उनके पास टेक्स्ट रीड करने और रीजनिंग का कौशल भी हो. इसी तरह पोस्ट ग्रेजुएशन स्तर पर भी कंप्रिहेनसन से जुड़े सवाल पूछे जाएंगे. परीक्षा में डिस्क्रिप्टिव हिस्सा पिछले साल जैसा ही रहेगा. बता दें कि कंसोर्टियम ने कार्यकारी परिषद क्लैट 2020 को यह जिम्मेदारी दी है कि वो एलएलएम में कट ऑफ से दाखिला दिए जाने की संभावना को तलाशे.