NDTV Khabar

डिस्टेंस मोड एजुकेशन: घर बैठे डिग्री पाने का बढ़िया तरीका

30 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
डिस्टेंस मोड एजुकेशन: घर बैठे डिग्री पाने का बढ़िया तरीका
भारत में मुख्य रूप से लर्निंग मोड हैं - एक है क्लासरूम लर्निंग जिसमें स्टूडेंट को कॉलेज या यूनिवर्सिटी जाकर रेगुलर क्लासेज अटेंड करनी होती है और दूसरा मोड है डिस्टेंस लर्निंग जिसमें स्टूडेंट कॉरेसपोंडेंस से पढ़ाई करता है. भारत में कई डिस्टेंस यूनिवर्सिटीज हैं जो कि कॉरेसपोंडेंस कोर्स करवाते है. इसके अलावा बहुत सी रेगुलर यूनिवर्सिटीज भी कई तरह के कोर्स डिस्टेंस मोड से ऑफर करती है. ऐसे स्टूडेंट्स जो कि किसी वजह से रेगुलर क्लासेज का हिस्सा नहीं बन सकते और हायर एजुकेशन प्राप्त करना चाहते हैं, उनके लिए डिस्टेंट कोर्स काफी फायदेमंद हैं. इसके अलावा ऐसे छात्र जो क्वालिफाइंग एग्जाम में अच्छे मार्क्स नहीं ला पाए, उनके लिए भी डिस्टेंस मोड अच्छा विकल्प है. 

वर्तमान में देश में हायर लर्निंग के 111 ऐसे संस्थान हैं जो कि डिस्टेंस/कॉरेसपोंडेंस लर्निंग प्रोग्राम ऑफर करने के लिए डिस्टेंस एजुकेशन ब्यूरो, यूजीसी से मान्यता प्राप्त हैं. यहां हम ऐसी ही कुछ जानी-मानी डिस्टेंस यूनिवर्सिटीज का जिक्र कर रहे हैं जो कि यूजीसी से मान्यता प्राप्त हैं. 

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू): यह एक सेंट्रल यूनिवर्सिटी है और डिस्टेंस लर्निंग एजुकेशन के क्षेत्र में जाना-माना नाम है. कई तरह के कोर्स ऑफर करने वाला इग्नू साल में दो बार जनवरी और जुलाई में दाखिले लेता है। 

स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग, दिल्ली यूनिवर्सिटी (एसओएल, डीयू)- यह भी एक सेंट्रल यूनिवर्सिटी है जो कि डिस्टेंस मोड से कई तरह के अंडर ग्रजेुएट कोर्स करवाता है. इसके अलावा बहुत से पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स भी डिस्टेंस मोड से उपलब्ध हैं. डीयू में रेगुलर कोर्स के एडमिशन होने के बाद एसओएल की दाखिला प्रक्रिया शुरू होती है. 

महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी (एमडीयू): एमडीयू हरियाणा का राज्य स्तरीय विश्वविद्यालय है. यह रोहतक में है. यहां डिस्टेंस मोड से 3 अंडरग्रजेुएट और 4 पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स उपलब्ध हैं. 

यशवंत चव्हाण महाराष्ट्र ओपन यूनिवर्सिटी (वाईसीएमओयू): महाराष्ट्र के नासिक में स्थित वाईसीएमओयू एक राज्य स्तरीय विश्वविद्यालय है. हर वर्ष जून माह में यहां दाखिले होते हैं. यहां कुल 8 स्कूल हैं जो कि सर्टिफिकेट, डिप्लोमा, अंडर ग्रजेुएट और पोस्ट ग्रेजुएट लेवल के कोर्स करवाते हैं. 

सिम्बायोसिस सेंटर फॉर डिस्टेंस लर्निंग (एससीडीएल): पुणे में स्थित एससीडीएल विभिन्न क्षेत्रों में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा कोर्स, डिप्लोमा कोर्स, सर्टिफिकेट कोर्स और कार्पोरेट कोर्स करवाता है. यहां दाखिला प्रक्रिया हर वर्ष अप्रैल/मई में होती है. 

मध्य प्रदेश भोज ओपन यूनिवर्सिटी (एमपीबीओयू): भोपाल में स्थित एमपीबीओयू यूनिवर्सिटी डिस्टेंस मोड से कई तरह के अंडर ग्रेजुएट, पोस्ट ग्रेजुएट और डिप्लोमा स्तरीय कोर्स करवाती है. हर वर्ष यहां दिसंबर माह में एडमिशन होते हैं. 

तमिलनाडु ओपन यूनिवर्सिटी (टीएनओयू): चेन्नई की ये यूनिवर्सिटी अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट स्तर के कई प्रोग्राम ऑफर करती है. यहां कई तरह के मैनेजमेंट और बीएड कोर्स भी डिस्टेंस मोड से करवाए जाते हैं. 

डॉ. भीम राव अंबेडकर ओपन यूनिवर्सिटी (बीआरएओयू): हैदराबाद में स्थित बीआरएओयू हर वर्ष अंडर ग्रेजुएट कोर्सेज के लिए दिसंबर माह में और पीजी कोर्सेज के लिए जुलाई माह में एडमिशन लेती है. 

कर्नाटक स्टेट ओपन यूनिवर्सिटी: ये यूनिवर्सिटी अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट स्तर के व कई डिप्लोमा प्रोग्राम ऑफर करती है. यहां हर वर्ष सितंबर के अंतिम सप्ताह में एडमिशन प्रक्रिया शुरू होती है. 

नेताजी सुभाष ओपन यूनिवर्सिटी (एनएसओयू): कोलकाता में स्थित इस यूनिवर्सिटी में भी कई फील्ड से संबंधित अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स करवाए जाते हैं. दाखिला प्रक्रिया जुलाई में शुरू होती है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement