NDTV Khabar

Jawaharlal Nehru Death Anniversary: जवाहरलाल नेहरू की पुण्यतिथि पर जानिए उनके जीवन से जुड़ी 10 बातें

पंडित जवाहरलाल नेहरू (Jawaharlal Nehru) की आज पुण्यतिथि है. आज भी नेहरू देश के लोगों के दिलों में जिंदा हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Jawaharlal Nehru Death Anniversary: जवाहरलाल नेहरू की पुण्यतिथि पर जानिए उनके जीवन से जुड़ी 10 बातें

Jawaharlal Nehru: नेहरू 1947 से 27 मई 1964 तक भारत के प्रधानमंत्री रहे.

खास बातें

  1. जवाहरलाल नेहरू की आज पुण्यतिथि है.
  2. जवाहरलाल नेहरू की 27 मई 1964 को दिल का दौरा पड़ने से मृत्यु हो गई थी.
  3. नेहरू देश के पहले प्रधानमंत्री थे.
नई दिल्ली:

पंडित जवाहरलाल नेहरू (Jawaharlal Nehru) की आज पुण्यतिथि है. जवाहरलाल नेहरू की 27 मई 1964 को दिल का दौरा पड़ने से मृत्यु हो गई थी. लेकिन आज भी नेहरू देश के लोगों के दिलों में जिंदा हैं. जवाहरलाल नेहरू का जन्म (Pandit Jawaharlal Nehru) 14 नवंबर 1889 को इलाहाबाद में हुआ था. उनके पिता का नाम मोतीलाल नेहरू और माता का नाम स्वरूपरानी था. जवाहरलाल नेहरू कश्मीरी पंडित समुदाय से थे, इसलिए उन्हें पंडित नेहरू (Pandit Nehru) बुलाया जाता था. नेहरू को बच्चों से बहुत प्यार था. बच्चे उन्हें चाचा नेहरू (Chacha Nehru) कहकर बुलाते थे. जवाहरलाल नेहरू ने कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय से लॉ किया था. जवाहरलाल नेहरू 1912 में भारत लौटे और वकालत शुरू की. 1919 में नेहरू महात्मा गांधी के संपर्क में आए, नेहरू गांधी जी से प्रभावित हुए और उन्होंने गांधी के उपदेशों के अनुसार खुद को ढाल लिया. नेहरू गांधी की तरह ही कुर्ता और टोपी पहनने लगे थे. देश की आजादी में नेहरू का खास योगदान था. 1942 के 'भारत छोड़ो' आंदोलन में नेहरूजी (Jawaharlal Nehru) 9 अगस्त 1942 को बंबई में गिरफ्तार हुए और अहमदनगर जेल में रहे, जहां से 15 जून 1945 को रिहा किए गए. पंडित नेहरू को आधुनिक भारत का निर्माता कहा जाता है, उन्होंने ही पंचवर्षीय योजनाओं का शुभारंभ किया था. साल 1947 में देश की आजादी के बाद पंडित जवाहरलाल नेहरू भारत के पहले प्रधानमंत्री बने. नेहरू 1947 से 27 मई 1964 तक भारत के प्रधानमंत्री रहे. आइये जानते हैं पंडित जवाहरलाल नेहरू से जुड़ी 10 खास बातें.
 

जवाहरलाल नेहरू (Jawaharlal Nehru) से जुड़ी 10 खास बातें
 

1. पंडित जवाहरलाल नेहरू (Jawaharlal Nehru) का जन्म 14 नवंबर 1889 को इलाहाबाद में हुआ था. जवाहरलाल नेहरू पंडित मोतीलाल नेहरू और स्वरूप रानी के चार बच्चों में सबसे बड़े पुत्र थे.

2. जवाहर लाल नेहरू को अंग्रेजी, हिंदी और संस्कृत का अच्छा ज्ञान था. नेहरू 1905 में पढ़ाई के लिए ब्रिटेन चले गए थे. जवाहरलाल नेहरू ने कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय से लॉ किया था.

3. जवाहर लाल नेहरू की शादी 1916 में कमला नेहरू से हुई. इसके एक साल बाद उन्होंने एक बेटी को जन्म दिया जिसका नाम इंदिरा प्रियदर्शनी था.


4. पंडित जवाहर लाल नेहरू लाल किले पर तिरंगा लहराने वाले पहले शख्स थे.

5. जवाहरलाल नेहरू (Jawaharlal Nehru) को सिगरेट पीने का बहुत शौक था. वो हर जगह सिगरेट पीते भी नजर आते थे. एक वक्त की बात है जब नेहरू जी भोपाल पहुंचे तो वहां उनकी 555 ब्रांड की सिगरेट खत्म हो गई. वहां कहीं भी उनकी सिगरेट नहीं मिली. जिसके बाद विशेष विमान में इंदौर से सिगरेट लाई गई.

नेहरू के होने का मतलब

6. जवाहरलाल नेहरू एक बार लंदन जाने वाले थे. उनका नाई हमेशा लेट हो जाया करता था. नेहरूजी के पूछने पर नाई ने कहा- 'मेरे पास घड़ी नहीं है, जिसके कारण वो हमेशा लेट हो जाया करते हैं.' जिसके बाद वो लंदन से नई घड़ी लाए थे.

7. जवाहरलाल चिंति‍त थे कि भारतीय महि‍लाएं ब्‍यूटी प्रोडक्‍ट्स पर बड़े पैमाने पर वि‍देशी मुद्रा खर्च कर रही हैं. जिसको देखते हुए नेहरू ने जेआरडी टाटा ने ब्यूटी प्रोडक्ट बनाने का निवेदन किया. जिसके बाद लैक्मे मार्केट में आया.

टिप्पणियां

8. जवाहर लाल नेहरू एक अच्छे लेखक भी थे. उनकी प्रमुख किताबें डिस्कवरी ऑफ इंडिया और ग्लिम्प्स ऑफ वर्ल्ड हिस्ट्री हैं.

9. नेहरू अपने जीवन में 9 बार जेल गए. चाचा नेहरू को 1955 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया था.

जवाहरलाल नेहरू क्यों लगाते थे लाल गुलाब? Valentine Week में कांग्रेस ने किया खुलासा

10. जवाहरलाल नेहरू की 27 मई 1964 को दिल का दौरा पड़ा जिसमें उनकी मृत्यु हो गई.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement