NDTV Khabar

कोच-कप्तान विवाद : विनोद राय बोले - कृपा करके ड्रेसिंग रूम के अंदर मत झांकिये

कुंबले का भारतीय टीम के कोच के तौर पर कार्यकाल कड़वाहट के साथ खत्म हुआ क्योंकि उन्होंने यह कहते हुए अपने पद से इस्तीफा दिया कि कप्तान विराट कोहली को उनके काम करने के तरीके से परेशानी थी.

180 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कोच-कप्तान विवाद : विनोद राय बोले -  कृपा करके ड्रेसिंग रूम के अंदर मत झांकिये

प्रशासकों की समिति (सीओए) प्रमुख विनोद राय ने अनिल कुंबले की प्रशंसा की....

खास बातें

  1. सीओए प्रमुख विनोद राय ने अनिल कुंबले की भूमिका की तारीफ की
  2. कुंबले का कोच के तौर पर कार्यकाल कड़वाहट के साथ खत्म हुआ
  3. कप्तान हो या मैनेजर, टीम में सांमजस्य होना चाहिए
मुंबई: प्रशासकों की समिति (सीओए) प्रमुख विनोद राय ने शनिवार को भारतीय कोच के तौर पर अनिल कुंबले की भूमिका की तारीफ करते हुए कहा कि वह बेहतरीन रहे और हम सुनिश्चित करेंगे कि भारतीय टीम में एकजुटता रहे. कुंबले का भारतीय टीम के कोच के तौर पर कार्यकाल कड़वाहट के साथ खत्म हुआ क्योंकि उन्होंने यह कहते हुए अपने पद से इस्तीफा दिया कि कप्तान विराट कोहली को उनके काम करने के तरीके से परेशानी थी. राय ने हालांकि कोहली और कुंबले के बीच मतभेद की खबरों को ज्यादा तवज्जो नहीं दी.

उन्होंने सीओए की बैठक के बाद कहा, "अगर दो व्यक्तियों को चौबीसों घंटे सातों दिन एक साथ रखा जाता है तो पेशेवर राय में मतभेद हो सकता है, इसमें कोई दो राय नहीं है? उनका अनुबंध एक साल के लिए था, इस कार्यकाल में अलग राय थीं, पेशेवर मुद्दे थे. वह काफी परिपक्व व्यक्ति हैं, उन्होंने यह फैसला किया कि चलो बस बहुत हो गया. कप्तान को ही मैदान पर खेलना है, क्या आखिरकार ऐसा नहीं है?"

उन्होंने कहा, "कुंबले की भूमिका पूरी तरह से त्रुटिहीन थी. उन्होंने बतौर कोच बेहतरीन काम किया. हम इतने ही पेशेवर के साथ रहेंगे जो पूरी तरह से पेशेवर हो ताकि सुनिश्चित हो कि भले ही यह कप्तान हो या मैनेजर, टीम में सांमजस्य होना चाहिए."

राय ने कहा, "कोच-कप्तान मुद्दे पर चर्चा के लिए क्या बचा है?  उन्होंने कहा कि किसी भी बयान पर मत जाइये. भारतीय मीडिया के बारे में एक अच्छी चीज यह है कि भारतीय मीडिया घरों, बैडरूम के अंदर नहीं झांकती इसलिये कृपा करके ड्रेसिंग रूम के अंदर मत झांकिये."

क्या श्रीनिवासन बीसीसीआई एसजीएम में भाग ले सकते हैं या नहीं?
विनोद राय ने इस प्रश्न के जवाब में कहा कि उन्हें अधिकार नहीं दिया गया है कि वह फैसला करें कि कोई व्यक्ति बैठकों में भाग लेने के लिये योग्य है या अयोग्य. गौरतलब है कि एन श्रीनिवासन सोमवार को मुंबई में होने वाली बोर्ड की विशेष आम बैठक में तमिलनाडु क्रिकेट संघ (टीएनसीए) का प्रतिनिधित्व करेंगे जिन्हें बीसीसीआई अध्यक्ष पद से हटा दिया गया था. राय ने कहा, "वो मुद्दा (श्रीनिवासन की बैठक में भाग लेने की योग्यता) सीओए की चर्चा का मुद्दा नहीं है. इस मुद्दे पर उच्चतम न्यायालय को फैसला करना है. हमें उच्चतम न्यायालय ने किसी व्यक्ति की योग्यता या अयोग्यता पर फैसला करने का अधिकार नहीं दिया है." उन्होंने कहा, "बैठक में भाग लेने वाले व्यक्तियों का उपस्थिति रजिस्टर उच्चतम न्यायालय के पास जायेगा. उच्चतम न्यायालय को इन चीजों के बारे में पता चल जाएगा."

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement