NDTV Khabar

कठुआ में बच्‍ची के साथ गैंगरेप से आहत क्रिकेटर गौतम गंभीर ने समाज से पूछा यह तीखा सवाल....

कठुआ में आठ साल की बच्‍ची के साथ गैंगरेप के मामले ने देश के अन्‍य लोगों के साथ-साथ क्रिकेटर गौतम गंभीर को भी हिलाकर रख दिया है.

16.4K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कठुआ में बच्‍ची के साथ गैंगरेप से आहत क्रिकेटर गौतम गंभीर ने समाज से पूछा यह तीखा सवाल....

गौतम गंभीर ने कठुआ मामले भारतीय समाज से कुछ चुभते हुए सवाल पूछे हैं (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. कहा, भारतीय चेतना का उन्‍नाव और कठुआ में रेप हुआ
  2. सिस्‍टम में अगर हिम्‍मत है तो दोषियों को सजा दे
  3. बेटी बचाओ से क्‍या हम बलात्‍कारी बचाओ हो गए हैं
नई दिल्‍ली: कठुआ में आठ साल की बच्‍ची के साथ गैंगरेप के मामले ने देश के अन्‍य लोगों के साथ-साथ क्रिकेटर गौतम गंभीर को भी हिलाकर रख दिया है. आईपीएल 2018 में दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स की कप्‍तानी कर रहे गंभीर ने इस मामले में ट्वीट के जरिये भारतीय समाज से चुभते हुए सवाल पूछे हैं. गंभीर ने इस मामले को लेकर दो ट्वीट किए हैं. पहले ट्वीट में उन्‍होंने लिखा, 'भारतीय चेतना का उन्‍नाव और फिर कठुआ में रेप किया गया. अब इसकी हमारे सड़ चुके सिस्‍टम में 'हत्‍या' की जा रही है. सामने आओ, मिस्‍टर सिस्‍टम, मैं आपको चुनौती देता हूं. यदि हिम्‍मत है तो दोषियों को सजा दो.' एक अन्‍य ट्वीट में गौतम ने लिखा, 'उन लोगों को, खासकर वकीलों को शर्म आनी चाहिए जो कठुआ की हमारी पीड़ि‍त बेटी की वकील दीपिका सिंह राजावत को चुनौती दे रहे और रोक रहे हैं. बेटी बचाओ से क्‍या हम बलात्‍कारी बचाओ हो गए हैं. '

टिप्पणियां
यह भी पढ़ें: मैदान के बाहर भी गौतम गंभीर ने की अफरीदी की बोलती बंद, दिया यह जबाव   गौरतलब है कि जम्‍मू-कश्‍मीर के कठुआ में जनवरी में हुई इस घटना में पहले आरोपियों ने 8 साल की बच्ची को एक सप्ताह के लिए बंदी बनाया था. इस दौरान उसके साथ कई बार रेप किया गया. चार्जशीट में कहा गया है कि बच्ची के साथ रेप के बाद आरोपियों ने उसे पत्थर से कुचला ताकि वह यह सुनिश्चित कर सकें कि बच्ची की मौत हो चुकी है. बच्ची का शव उसके गांव के पास के जंगल से 17 जनवरी को बरामद हुआ. पुलिस के अनुसार आरोपी युवक ने बच्ची का अपहरण उसका घोड़ा खोजकर लाकर देने के बहाने किया था.

मासूम बच्ची से रेप और हत्या के मामले में अभी तक 8 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है, जिसमें 2 स्पेशल पुलिस अफसर, एक हेड कांस्टेबल, एक सब इंस्पेकटर, एक कठुआ निवासी और एक नाबालिग शामिल हैं. फोरेंसिक जांच में ये बात साबित हो चुकी है कि हत्या के पहले उसे एक धर्मस्‍थल के अंदर एक हफ्ते तक टार्चर किया गया.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement