Goodbye 2019: इन खिलाड़ियों को साल 2019 में अलग-अलग फॉर्मेट में मिली भारतीय कैप

Goodbye 2019: साल 2019 में भारत के लिए अलग-अलग फॉर्मेटों में कई भारतीय खिलाड़ियों को भारतीय जर्सी पहनने का सौभाग्य मिला.

Goodbye 2019: इन खिलाड़ियों को साल 2019 में अलग-अलग फॉर्मेट में मिली भारतीय कैप

Flashback 2019: शुभमन गिल के बारे में आने वाले समय में काफी कुछ सुनने को मिलेगा.

खास बातें

  • सिर्फ एक ही खिलाड़ी को टेस्ट कैप मिली साल 2019 में
  • शुबमन गिल से भविष्य में बहुत ज्यादा उम्मीदें
  • कई गेंदबाजों को मिला भारतीय जर्सी पहनने का मौका
नई दिल्ली:

साल 2019 जल्द ही आपसे विदा लेने को है. इस साल भारतीय खेल जगत में कई यादगार घटनाएं हुईं, कई विवाद हुए, तो कई रिकॉर्ड बने. क्रिकेट मैदान पर भी ऐसा बहुत कुछ हुआ, जो कई बार करोड़ों भारतीय प्रेमियों को खुशी से सराबोर कर गया, तो गम भी दे गया.  हमने पिछले कुछ समय से आपको क्रिकेट और  बाकी खेलों से जुड़े तमाम पहलुओं की जानकारी आपको दी है. इसी कड़ी के तहत हम आपके लिए हम आपको उन खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्होंने साल 2019 में टीम इंडिया के लिए अलग-अलग फॉर्मेट में अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का आगाज किया. किसी के लिए आगाज खट्टा रहा, तो किसी के लिए मीठा! कुछ मौका मिलने के बाद लंबे समय के लिए गायब हो गए, तो कुछ ने लंबी रेस का घोड़ा बनने के संकेत दिए हैं. चलिए जान लीजिए कि वेे खिलाड़ी कौन-कौन से हैं, जिन्हेंं साल 2019 में भारत के लिए अलग-अलग फॉर्मेट में अपने करियर का आगाज किया.

शुभमन गिल
साल 2000 से शुरू हुए अंडर-19 वर्ल्ड कप इतिहास से भारत को मिले सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में एक करार दिया जाए, तो गलत नहीं ही होगा! पंजाब के लिए रणजी ट्रॉफी खेलने वाले शुभमन गिल बड़ी पारियां खेलने के लिए प्रसिद्ध हैं और वह साल 2018 में न्यूजीलैंड में हुए अंडर-19 वर्ल्ड कप में भारत के उप-कप्तान थे. इस साल उन्होंने 31 जनवरी को हैमिल्टन में न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे मैच से करियर का आगाज किया. अब साल खत्म होते-होते वह हाल ही में श्रीलंका के खिलाफ घोषित भारत ए टीम के कप्तान हैं. आईपीएल में भी शुभमन गिल ने अपने बल्ले की खासी धमक सुनायी है. निश्चित ही, आने वाले लंबे समय तक उनका नाम इंटरनेशनल क्रिकेट में गूंजेगा. 

Goodbye 2019: खेल जगत के चर्च‍ित Tweets, व‍िराट कोहली के बर्थडे मैसेज से शोएब अख्‍तर के तंज तक..

शाहबाज नदीम
झारखंड के लेफ्टआर्म स्पिनर शाहबाज नदीम ने रांची में 9 से 12 अक्टूबर तक दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपना पहला टेस्ट खेला तो, यह चर्चा का विषय बन गया. इस मैच में भी उन्हें कुलदीप यादव के चोटिल होने के कारण जगह मिली, लेकिन यह मैच उनके अंतरराष्ट्रीय करियर का आगाज करा गया. वहीं, यह रिकॉर्ड भी रहा कि प्रथण श्रेणी करियर के आगाज के 15 साल, 424 प्रथम श्रेणी विकेट चटकाने और 30 साल की उम्र के बाद इस बॉलर को भारतीय जर्सी पहनने का मौका मिला. शाहबाज ने मैच में चार विकेट चटकाए.

शिवम दुबे 
मुंबई के लिए रणजी ट्रॉफी खेलने वाले वाले एक और खिलाड़ी शिवम दुबे को सेलेक्शन कमेटी ने साल 2019 में टी20 और वनडे दोनों फॉर्मेटों में भारत की कैप सौंपी. दुबे ने 3 नवंबर को बांग्लादेश के खिलाफ दिल्ली टी20 करियर का आगाज किया, तो विंडीज के खिलाफ 15 दिसंबर को पहला वनडे खेला. शिवम दुबे की शुरुआत थोड़ी नर्वस रही, लेकिन एक मैच में बेहतरीन अर्द्धशतक तो उन्होंने जड़ा ही, वहीं यह भी दिखाया कि वह बड़े शॉट खेलने में माहिर हैं. टीम मैनेजमेंट शिवम दुबे में निवेश कर रहा है और उन्हें टी20 वर्ल्ड के लिए भारतीय टीम में जगह मिल सकती है.

विजय शंकर

विजय शंकर के लिए साल 2019 मिला-जुला रहा. साल 2018 में टी20 करियर शुरू करने वाले विजय शंकर एकदम ही टीम इंडिया के चहेते बन गए और सभी को चौंकाते हुए सेलेक्टरों ने उन्हें अंबाती रायुडू पर तरजीह देते हुए विश्व कप की टीम में जगह दी, जिसके कारण खासा विवाद भी हुआ. लेकिन चोट के चलते बीच वर्ल्ड कप से ही भारत वापस लौटे विजय शंकर ऐसे गायब हो गए कि टीम के साथ-साथ मीडिया की सुर्खियों से ही नदारद हो गए. उन्हें आगे मौका मिलेगा या नहीं इस पर सवाल है, लेकिन विजय शंकर को भी सेलेक्टरों ने साल 2019 में वनडे कैप दी.

नवदीप सैनी
दिल्ली के लिए खेलने वाले नवदीप सैनी एक और खिलाड़ी रहे, जिन्होंने इस साल अपने अंतरराष्ट्रीय वनडे करियर का आगाज किया. भुवनेश्वर कुमार विंडीज के खिलाफ खत्म हुई सीरीज में चोटिल हुए, यह नवदीप सैनी के लिए वरदान बन कर आया. इसी साल अगस्त में विंडीज के खिलाफ ही लाउडरहिल में अपने टी20 करियर का आगाज करने वाले नवदीप ने गुजरी 22 तारीख को कटक में अपना पहला वनडे खेला और वह दो विकेट लेने में भी कामयाब रहे.

मोहम्मद सिराज
हैदराबाद के लिए रणजी ट्रॉफी खेलने वाले मोहम्मद सिराज एक और तेज गेंदबाज रहे, जिन्हें इस साल भारत के लिए वनडे करियर आगाज करने का मौका मिला. हालांकि, इसकी शुरुआत में 15 जनवरी को खेला गया यह मुकाबला उनके लिए यादगार नहीं बन सका. सिराज ने दस ओवरों में 76 रन खर्च किए, लेकिन उन्हें विकेट नहीं मिला.

VIDEO: भारतीय कप्तान विराट कोहली ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जाने से पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान. 

राजस्थान के राहुल चाहर और पंजाब के लेग स्पिनर मयंक मारकंडे दो और खिलाड़ी रहे, जिनको साल 2019 में टी20 क्रिकेट खेलने का मौका मिला. और इन दो सहित ऊपर बताए गए ये वो खिलाड़ी हैं, जो अगले साल ऑस्ट्रेलिया में होने वले टी20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया का हिस्सा बन सकते हैं.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com