NDTV Khabar

हार्दिक पांड्या ने तोड़ा एडम गिलक्रिस्ट का रिकॉर्ड, आउट करवाने पर रवींद्र जडेजा को नहीं कर पाए 'माफ'!

टीम इंडिया के हार्दिक पांड्या ने तूफानी पारी खेलते हुए अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया. इस दौरान उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के विस्फोटक बल्लेबाज रहे एडम गिलक्रिस्ट का एक रिकॉर्ड भी तोड़ दिया. हालांकि वह जिस तरह से फाइनल में रनआउट हुए थे, उससे काफी नाखुश थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
हार्दिक पांड्या ने तोड़ा एडम गिलक्रिस्ट का रिकॉर्ड, आउट करवाने पर रवींद्र जडेजा को नहीं कर पाए 'माफ'!

INDvsPAK Final : हार्दिक पांड्या ने 76 रनों की पारी खेली थी...

खास बातें

  1. ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या को जडेजा ने रनआउट करवा दिया था
  2. पांड्या ने 72 रन पर 6 विकेट खोने के बाद पारी संभाली थी
  3. टीम इंडिया अंत में पाकिस्तान से 180 रनों से हार गई थी
नई दिल्ली: आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में जहां पाकिस्तानी गेंदबाजों के आगे टीम इंडिया के बल्लेबाज एक-एक करके लौटते जा रहे थे, वहीं टीम के युवा ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने तूफानी पारी खेलते हुए अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया. इस दौरान उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के विस्फोटक बल्लेबाज रहे एडम गिलक्रिस्ट का एक रिकॉर्ड भी तोड़ दिया. हालांकि वह जिस तरह से फाइनल में रनआउट हुए थे, उससे काफी नाखुश थे. उन्होंने आउट होने के बाद पैवेलियन लौटते हुए भी इसे साफ जाहिर कर दिया था, लेकिन ऐसा लगता है कि वह मैच के बाद भी इसे नहीं भूल पाए थे और देर रात को संभवतः रवींद्र जडेजा को लेकर इशारों में एक ट्वीट कर दिया. हालांकि बाद में उन्होंने इसे डिलीट कर दिया. एनडीटीवी इस ट्वीट की सत्यता की पुष्टि नहीं करता, लेकिन मीडिया में यह काफी चर्चा में है...

हार्दिक पांड्या ने अपनी ओर से पूरी कोशिश करते हुए ऐसे में समय में आतिशी पारी खेली, जब टीम इंडिया 72 रन पर ही छह विकेट खो चुकी थी. इसमें उनका साथ रवींद्र जडेजा दे रहे थे. युवा ऑलराउंडर पांड्‍या ने अपनी तूफानी बल्लेबाजी से सबका दिल जीत लिया. इसके साथ ही उन्होंने आईसीसी टूर्नामेंटों के फाइनल में सबसे तेज फिफ्टी बनाने का रिकॉर्ड भी बना लिया. इस मामले में उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के एडम गिलक्रिस्ट को पीछे छोड़ा. जहां पांड्या ने 32 गेंदों में फिफ्टी (4 छक्के, 3 चौके) बनाई, वहीं गिलक्रिस्ट ने साल 1999 के वनडे वर्ल्ड कप फाइनल में 33 गेंदों में फिफ्टी (8 चौके, 1 छक्का) बनाई थी.

वैसे पांड्या ने 43 गेंदों में कुल 76 रन बनाए, लेकिन इसी स्कोर पर रवींद्र जडेजा के साथ सिंगल चुराने के चक्कर में रनआउट हो गए. वास्तव में जडेजा ने उनकी कॉल पर पहले तो दौड़ पड़े, लेकिन अंतिम समय पर लौट गए और इस बीच हार्दिक पांड्या भी उन्हीं के छोर पर पहुंच गए. फिर क्या था पांड्या को रनआउट होकर लौटना पड़ा. इससे पांड्या काफी नाराज हो गए.

हार्दिक पांड्या जडेजा की इस गलती को भूल नहीं पाए और उन्होंने अपनी भड़ास सोशल मीडिया पर निकाली. उन्होंने इशारों-इशारों में लिका, 'हमें तो अपनों ने लूटा गैरों में कहां दम था.''
 
hardik pandya ravindra jadeja icc champions trophy
हार्दिक पांड्या ने इस ट्वीट को बाद में डिलीट कर दिया...

हार्दिक के इस ट्वीट के कई कयास लगाए जाने लगे, लेकिन ज्यादातर लोगों का मानना था कि यह ट्वीट उन्होंने रवींद्र जडेजा के लिए किया है. हालांकि हार्दिक को संभवतः अपनी गलती का अहसास हुआ और उन्होंने इसे डिलीट कर दिया. फिर भी तब तक यह ट्वीट वायरल हो चुका था और कई लोगों ने इसके स्क्रीन शॉट भी शेयर कर दिए...

बाद में हार्दिक पांड्या ने औपचारिक तौर पर फैन्स के नाम संदेश दिया, 'चैंपियंस ट्रॉफी, 2017 भारतीय टीम के लिए एक शानदार सफर रहा, हमने अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश की. ये पूरी टीम का एफर्ट था. आप सभी की शुभकामनाओं और साथ के लिए बहुत-बहुत शुक्रिया.'
टीम इंडिया की ओर से हार्दिक पांड्या ने जिस तरह का प्रदर्शन किया है, उससे एमएस धोनी की जगह फिनिशर के रोल के लिए एक बल्लेबाज मिलता दिख रहा है. खास बात यह कि वह तेंज गेंदबाज ऑलराउंडर हैं, जिसकी टीम को लंबे समय से तलाश थी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement