NDTV Khabar

ICC चैंपियन्स ट्रॉफी : क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने सचिन तेंदुलकर, एमएस धोनी को नहीं समझा इसके लायक!

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने अब तक की आईसीसी चैंपियन्स ट्रॉफी में खेले क्रिकेटरों के आधार पर अपनी बेस्ट टीम चुनी है, लेकिन उसने मास्टर-ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर जैसे कई दिग्गजों को जगह नहीं दी है और इससे भारतीय फैन्स नाराज हैं.

1.1K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
ICC चैंपियन्स ट्रॉफी : क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने सचिन तेंदुलकर, एमएस धोनी को नहीं समझा इसके लायक!

सचिन तेंदुलकर ने टीम इंडिया के लिए वनडे में 18 हजार से अधिक रन बनाए थे (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. सचिन तेंदुलकर ने वनडे में वर्ल्ड में सबसे अधिक रन बनाए हैं
  2. बल्लेबाजी का बड़े से बड़ा रिकॉर्ड भी सचिन के नाम है
  3. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने उनके इस प्रदर्शन को भी अनदेखा कर दिया
नई दिल्ली: टीम इंडिया के आईसीसी चैंपियन्स ट्रॉफी में भाग लेने की पुष्टि के साथ ही भारतीय क्रिकेट फैन्स के बीच खुशी की लहर दौड़ गई थी. चयनकर्ताओं ने टीम की भी घोषणा कर दी है और अब सबकी नजरें टीम इंडिया के टूर्नामेंट में प्रदर्शन पर टिकी हैं. विराट कोहली के लिए भी यह प्रतियोगिता बेहद खास होने जा रही है, क्योंकि उनकी कप्तानी में टीम इंडिया पहली बार आईसीसी के किसी टूर्नामेंट में भाग लेगी. इस बीच अलग-अलग क्रिकेटरों और बोर्डों की ओर से ड्रीम टीम चुनने का सिलसिला भी शुरू हो गया है. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने अब तक की आईसीसी चैंपियन्स ट्रॉफी में खेले क्रिकेटरों के आधार पर अपनी बेस्ट टीम चुनी है, लेकिन उसने मास्टर-ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर जैसे कई दिग्गजों को जगह नहीं दी है और इससे भारतीय फैन्स नाराज हैं. आइए जानते हैं कि इस टीम में कौन-कौन से खिलाड़ी शामिल हैं...

सचिन, धोनी, कुंबले का नाम नदारद
क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की ओर से घोषित चैंपियन्स ट्रॉफी की अब तक की ग्रेटेस्ट इलेवन में सबसे चौंकाने वाली बात वनडे क्रिकेट में सबसे अधिक रन बना चुके सचिन तेंदुलकर के नाम का नहीं होना है. सचिन के साथ ही वर्ल्ड के बेस्ट कीपर माने जाने वाले और टीम इंडिया के सफलतम कप्तान एमएस धोनी का नाम भी नहीं है. धोनी का नहीं होना भी आश्चर्यजनक है, क्योंकि उनका कप्तानी रिकॉर्ड उन्हें इसका प्रबल दावेदार बनाता है. वैसे भी टीम इंडिया ने उनकी कप्तानी में 2013 में चैंपियन्स ट्रॉफी जीती थी और वह इस बार खिताब का बचाव करने उतरेगी. धोनी आईसीसी के सभी टूर्नामेंट जीत चुके एकमात्र कप्तान भी हैं, लेकिन ऑस्ट्रेलियाई बोर्ड ऐसा नहीं सोचता. हालांकि उसकी माने, तो उसने चैंपियन्स ट्रॉफी के प्रदर्शन को ही चयन का आधार बनाया है.

धोनी की जगह द्रविड़ को चुना कीपर
इस टीम में धोनी की जगह राहुल द्रविड़ को विकेटकीपर चुना गया है. टीम इंडिया की दीवार के नाम से मशहूर रहे द्रविड़ को लेकर किसी को संदेह नहीं है, लेकिन वनडे क्रिकेट में धोनी की मारक क्षमता और कीपिंग के सामने द्रविड़ कहीं नहीं ठहरते.

गांगुली बने कप्तान
क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने ड्रीम टीम का कप्तान टीम इंडिया के सबसे सफलतम कप्तानों में से एक सौरव गांगुली को चुना है. गांगुली की कप्तानी पर कोई सवाल नहीं है, लेकिन उनकी कप्तानी में टीम इंडिया कोई भी आईसीसी ट्रॉफी नहीं जीत पाई है, जबकि धोनी के नाम टी-20 वर्ल्ड कप, वनडे वर्ल्ड कप और चैंपियन्स ट्रॉफी का खिताब है और वह कप्तानी के प्रबल दावेदार थे.

टिप्पणियां
गेल और गिब्स को चुना ओपनर
वेस्टइंडीज के विस्फोटक ओपनर क्रिस गेल को टीम में ओपनर के रूप में दक्षिण अफ्रीका के हर्शल गिब्स के साथ चुना गया है. गेल ने इस ट्रॉफी में 17 मैच खेले हैं और 791 रन बनाए हैं. जैक कलिस भी इस टीम में हैं. स्पिनर के तौर पर श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन और न्यूजीलैंड के डेनियल विटोरी को चुना गया है, जबकि टीम इंडिया के स्पिनर हरभजन सिंह और अनिल कुंबले इसमें जगह नहीं बना पाए.

मैक्ग्रा और मिल्स हैं तेज गेंदबाज
तेज गेंदबाज के रूप में मैक्ग्रा और न्यूजीलैंड के काइल मिल्स को टीम में जगह दी है. मध्यक्रम में डेमियन मार्टिन को जगह मिली है, जबकि शेन वॉटसन ऑलराउंडर के रूप में हैं. वॉटसन ने इस ट्रॉफी में 17 मैचों में 453 रन बनाए हैं.
 
पूरी टीम इस प्रकार है:
सौरव गांगुली (कप्तान), क्रिस गेल, हर्शल गिब्स, जैक कलिस, डेमियन मार्टिन, राहुल द्रविड़ (विकेटकीपर), शेन वॉटसन, ग्लेन मैक्ग्रा, काइल मिल्स, मुथैया मुरलीधरन और डेनियल विटोरी 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement