NDTV Khabar

INDvsBAN : सेमीफाइनल में 'विराट सेना' को रहना होगा सावधान, उलटफेर करने में माहिर है बांग्लादेश

दुनिया की नंबर 1 वनडे टीम दक्षिण अफ्रीका को रविवार शाम करो या मरो के मुकाबले में हराकर 'विराट सेना' चैंपियंस ट्रॉफी के सेमीफाइनल में है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
INDvsBAN : सेमीफाइनल में 'विराट सेना' को रहना होगा सावधान, उलटफेर करने में माहिर है बांग्लादेश

मैच में पलड़ा भारत का ही भारी है लेकिन बांग्लादेश की टीम उलटफेर में माहिर है...

खास बातें

  1. करो या मरो का मुकाबला जीतकर 'विराट सेना' चैंपियंस ट्रॉफी के सेमीफाइनल में
  2. अब सेमीफाइनल में टीम इंडिया का मुकाबला सबसे खतरनाक टीम बांग्लादेश से
  3. विराट कोहली को सबसे ज्यादा सावधान रहने की जरूरत है
नई दिल्ली:
टिप्पणियां

दुनिया की नंबर 1 वनडे टीम दक्षिण अफ्रीका को रविवार शाम करो या मरो के मुकाबले में हराकर 'विराट सेना' चैंपियंस ट्रॉफी के सेमीफाइनल में है. अब सेमीफाइनल में टीम इंडिया का मुकाबला सबसे खतरनाक टीम बांग्लादेश से है. विराट कोहली को सबसे ज्यादा सावधान रहने की जरूरत है. 15 जून को दोनों टीमें आमने-सामने होंगी. जीतेगी वाली टीम फाइनल में पहुंचेगी. हालांकि जानकारों का कहना है कि मैच में पलड़ा भारत का ही भारी है, बांग्लादेश की टीम उलटफेर में माहिर है. ज्यादातर बड़ी टीमें इस टीम को कमजोर आंकती हैं और इसका खामियाजा भुगतती हैं. विराट कोहली की टीम को अगर फाइनल में जगह बनानी है तो उन्हें बांग्लादेश को कमजोर नहीं समझना नहीं होगा.  

2007 विश्वकप में भारत को किया था बाहर
विराट कोहली को वेस्ट इंडीज में खेल गया  2007 विश्वकप का मुकाबला अभी भूला नहीं होगा. पोर्ट ऑफ स्पेन के क्वींस पार्क ओवल में खेले गए ग्रुप-बी के मुकाबले में भारत और बांग्लादेश आमने-सामने थे. कप्तान सौरव गांगुली ने उस मैच में टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया था. सौरव (66) और युवराज सिंह (47) के अलावा कोई भी बल्लेबाज बांग्लादेशी गेंदबाजी आक्रमण नहीं झेल पाया था. भारत की पूरी टीम 49.3 ओवर में 191 रनों पर लुढ़क गई थी. बांग्लादेश ने 9 गेंद शेष रहते यह मैच 5 विकेट से जीतकर भारत के विश्वकप जीतने के अरमान को बुरी तरह धो दिया था. बांग्लादेश की तरफ से तमीम इकबाल ने 51, मुश्फिकुर रहमान ने 56 और शाकिब अल हसन ने 53 रनों की मैच लाजवाब पारी खेली थी.  
 
2007 विश्वकप में दक्षिण अफ्रीका को दी थी मात
2007 के विश्वकप में भारत को बाहर का रास्ता दिखाने के बाद बांग्लादेश ने दक्षिण अफ्रीका को भी बुरी तरह धोया था. सुपर 8 का मुकाबला गुयाना के प्रोविडेंस स्टेडियम में खेला गया था. बांग्लादेश ने टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवर में 8 विकेट के नुकसान पर 251 रन बनाए थे. दबाव में दक्षिण अफ्रीका की बल्लेबाजी बांग्लादेश के गेंदबाजी आक्रमण के सामने बिखर गई. उसके बल्लेबाज पूरे 50 ओवर भी नहीं खेल पाए और 48.4 ओवर में पूरी टीम पवेलियन लौट गई.
 
2011 विश्वकप में इंग्लैड को चटाई धूल 
साल 2011 के विश्वकप में ग्रुप-बी का मुकाबला बांग्लादेश और इंग्लैंड के बीच चटगांव में खेला गया. इंग्लैंड की पूरी टीम 49.4 ओवर में 225 रन बनाकर आउट हो गई. बांग्लादेश ने 226 रनों के लक्ष्य का पीछा बड़े ही शानदार तरीके से किया. टीम ने 49 ओवर में 8 विकेट खोकर यह मैच जीत लिया और इंग्लैंड को धूल चटाई थी. 
 
2015 वर्ल्डकप में भी इंग्लैड को हराया
ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में खेले गए पिछले विश्व कप में भी बांग्लादेश ने इंग्लैंड को हार का स्वाद चखाया था. एडिलेड ओवल में खेले गए इस मुकाबले में इंग्लैंड के कप्तान मोर्गन ने टॉस जीता और बांग्लादेश को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया था. बांग्लादेश ने निर्धारित 50 ओवरों में 7 विकेट खोकर 275 रन बनाए. जवाब में इंग्लैंड की पूरी टीम 48.3 ओवर में 260 रन पर ही सिमट गई थी. इस तरह से बांग्लादेश ने यह मुकाबला 15 रन से अपने नाम कर दिया था.
 
साल 2015 में शानदार प्रदर्शन
बांग्लादेश टीम के लिए साल 2015 शानदार करके सबका ध्यान आकर्षित किया. टीम ने 2015 में भारत, पाकिस्तान और दक्षिण अफ्रीका जैसी मजबूत टीमों को लगातार हराया. सबसे पहले बांग्लादेश की टीम ने पाकिस्तान को 17 अप्रैल को 79 रनों से, फिर 19 अप्रैल को 7 विकेट और 22 अप्रैल को 8 विकेट से मात दी. यह सभी मुकाबले ढाका में खेले गए थे. इसके बाद बारी टीम इंडिया की थी. 18 जून को ढाका में खेले गए मुकाबले में बांग्लादेश ने भारत को 79 रनों से हराया. इसके बाद 21 जून को एक बार फिर 6 विकेट से भारत को हार का मुंह देखना पड़ा. हालांकि 24 जून का मुकाबल भारत के नाम रहा था. 
 
इतना ही नहीं, बांग्लादेश की टीम ने अपने प्रदर्शन को और निखारा. 10 जुलाई को ढाका में खेले गए मुकाबले में दक्षिण अफ्रीकी टीम ने बांग्लादेश को 8 विकेट से मात दी. लेकिन इसके बाद तो बांग्लादेश ने दक्षिण अफ्रीका को संभलने का मौका ही नहीं दिया. 12 जुलाई को ढाका में हुए मैच में बांग्लादेश ने 7 विकेट से जीत दर्ज की जबकि 15 जुलाइ को चटगांव के मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका को 9 विकेट से शर्मनाक हार का मुंह देखना पड़ा. इसके बाद इसी साल नवंबर माह में बांग्लादेश ने अपनी घरेलू सीरीज में जिम्बाब्वे को भी लगातार तीन मैचों में हराया.
 
ये रही दोनों टीमों के बीच हुए मैच की स्थिति
भारत और बांग्लादेश के बीच अब तक कुल 32 वनडे मैच खेले जा चुके हैं. भारत ने इनमें से 26 मैचों में जीत दर्ज की है, जबकि 5 बार बांग्लादेश ने भारत को धूल चटाई है. 1 मैच बेनतीजा रहा. दोनों टीमों के बीच हुए मुकाबलों में भारत का जीत औसत 80 फीसद से ऊपर है, लेकिन यह भी सच है कि पांच मौकों पर बांग्लादेश ने भारत को हराया है. ऐसे में भारत को बांग्लादेश जैसी खतरनाक टीम को हल्के में नहीं लेना चाहिए. 




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement