NDTV Khabar

डोपिंग के कारण एक साल का बैन झेलने वाले अफगानिस्‍तान के मो. शहजाद ने अब पिच पर बल्‍ला पटका, दो मैच के लिए सस्‍पेंड

अफगानिस्तान के विकेटकीपर बल्लेबाज मोहम्‍मद शहजाद को एक बार फिर आईसीसी के दो मैचों के निलंबन का सामना करना पड़ा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
डोपिंग के कारण एक साल का बैन झेलने वाले अफगानिस्‍तान के मो. शहजाद ने अब पिच पर बल्‍ला पटका, दो मैच के लिए सस्‍पेंड

शहजाद पर डोप टेस्‍ट में नाकाम रहने के कारण एक साल का बैन लगा था (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. जिम्‍बाब्‍वे के खिलाफ मैच में पिच पर बल्‍ला पटका था
  2. इसके कारण पिच को पहुंचा था नुकसान
  3. आईसीसी ने इसे आचार संहिता का उल्‍लंघन माना
हरारे:
टिप्पणियां
अफगानिस्तान के विकेटकीपर बल्लेबाज मोहम्‍मद शहजाद को आईसीसी के दो मैचों के निलंबन का सामना करना पड़ा है. शहजाद को इससे पहले डोपिंग टेस्‍ट में नाकाम रहने के कारण क्रिकेट की शीर्ष संस्‍था आईसीसी ने एक साल को बैन लगाया था और उन्‍होंने हाल ही में क्रिकेट में वापसी की है. शहजाद को इस बार दो मैचों को निलंबन बुधवार को आईसीसी आचार संहिता के उल्‍लंघन के कारण झेलना पड़ा है. आईसीसी क्रिकेट वर्ल्‍डकप क्वालीफायर के दौरान जिम्‍बाब्‍वे के खिलाफ मैच में उन्‍होंने जोर से बल्‍ला पटका था जिसके कारण पिच को नुकसान पहुंचा था.उनके इस व्‍यवहार को आचार संहिता का उल्लंघन माना गया. शहजाद के डीमेरिट अंक चार हो जाने के कारण उन्‍हें क्रिकेट वर्ल्‍डकप क्वालीफायर के अगले दो मैचों से निलंबित कर दिया गया. यही नहीं, शहजाद को ताजा गलती के लिए अपनी मैच फीस का 15 प्रतिशत हिस्सा गंवाना पड़ा और उनके खाते में एक डीमेरिट अंक जुड़ गया. जिम्‍बाब्वे के खिलाफ  मैच के दौरान शहजाद ने आउट होने के बाद बगल वाली पिच पर बल्ला पटका था जिससे पिच को नुकसान हुआ था. उन्‍हें आईसीसी की आचार संहिता के अनुच्छेद 2.1.8 के उल्लंघन का दोषी पाया गया, जो किसी अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान क्रिकेट उपकरणों या पोशाक, मैदानी उपकरण आदि को नुकसान पहुंचाने से संबंधित है. शहजाद को इससे पहले 12 दिसंबर 2016 को दुबई में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई ) के खिलाफ टी-20 मैच के दौरान आइसीसी की आचार संहिता के उल्लंघन के लिए 100 प्रतिशत मैच फीस का जुर्माना लगाया गया था. तब उनके खाते में तीन डीमेरिट अंक जोड़े गए थे. अब एक और डीमेरिट अंक जुड़ने से उनके चार डीमेरिट अंक हो गए, जो दो निलंबन अंकों के बराबर हैं.

वीडियो: पुजारा बोले, धोनी और कोहली में जीत की भूख है कॉमन
शहजाद पर डोपिंग में नाकाम करने के कारण आईसीसी एक साल का बैन भी लगा चुका है. डोप टेस्‍ट में नाकाम रहने के कारण इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने उन पर यह कार्रवाई की थी. शहजाद ने दुबई में 17 जनवरी 2017 को अपना यूरिन सैंपल दिया था, जांच के बाद उसमें वह तत्व (क्लेनबूटेरॉल) पाया गया जो वाडा की लिस्ट में बैन है.  शहजाद पर जो बैन लगाया गया था वह 17 जनवरी 2017 से लागू हुआ और 17 जनवरी 2018 को खत्म हुआ था. (इनपुट: एजेंसी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement