NDTV Khabar

हितों का टकराव: CoA ने किया Rahul Dravid का बचाव, RBI के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन का उदाहरण दिया

राहुल द्रविड़ मामले में अपना पक्ष रखने BCCI के आचरण अधिकारी (Ethics Officer) डीके जैन के समक्ष पेश हुए. प्रशासकों की समिति (CoA)ने हालांकि आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन (Raghuram Rajan) का उदाहरण देकर द्रविड़ का बचाव करने की कोशिश की .

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
हितों का टकराव:  CoA ने किया Rahul Dravid का बचाव, RBI के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन का उदाहरण दिया

Rahul Dravid हितों के टकराव मामले में बीसीसीआई के Ethics Officer के समक्ष पेश हुए

खास बातें

  1. MPCA के संजीव गुप्ता ने की है मामले में शिकायत
  2. कहा-द्रविड़ ने इंडिया सीमेंट्स से छुट्टी ली, इस्तीफा नहीं दिया
  3. द्रविड को NCA में क्रिकेट निदेशक बनाया गया है
नई दिल्ली/मुंबई:

Rahul Dravid: भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) अपने खिलाफ हितों के टकराव (Conflict Of Interes) मामले में अपना पक्ष रखने के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI)के आचरण अधिकारी (Ethics Officer) डीके जैन के समक्ष पेश हुए. प्रशासकों की समिति (CoA)ने हालांकि आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ( Former RBI Governor Raghuram Rajan) का उदाहरण देकर द्रविड़ का बचाव करने की कोशिश की और इस मुद्दे को नरम करने की कोशिश की.मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ के आजीवन सदस्य संजीव गुप्ता ने शिकायत दर्ज कराते हुए कहा था कि द्रविड़ ने राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (NCA) का क्रिकेट निदेशक पद संभालने से पहले इंडिया सीमेंट्स (आईपीएल फ्रेंचाइजी चेन्नई सुपरकिंग्स के मालिक) से ‘अवकाश' लिया है और अपने पद से इस्तीफा नहीं दिया.

पाकिस्तान टीम के बर्खास्त कोच Mickey Arthur ने Misbah-ul-Haq पर यूं साधा निशाना..


पता चला है कि CoA ने द्रविड़ (Rahul Dravid) का समर्थन किया है और इसके प्रमुख पूर्व नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक विनोद राय (Vinod Rai)ने आचरण अधिकारी को पत्र लिखकर दो उदाहरण दिए है जब किसी व्यक्ति के किसी संस्था से अवकाश को उनके मौजूदा पद के साथ हितों के टकराव के रूप में नहीं देखा गया. बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया, ‘सीओए प्रमुख ने सुनवाई से पहले एक नोट लिखा है कि उन्हें लगता है कि अगर द्रविड़ ने अवकाश लिया है तो उनका हितों का टकराव नहीं है. उन्होंने आरबीआई के पूर्व गवर्नर राजन का उदाहरण दिया जिन्होंने शिकागो विश्वविद्यालय में अपनी शिक्षक की भूमिका से अवकाश लिया था.'

द्रविड़ और शास्त्री की मुलाकात पर BCCI ने किया 'Two Greats' का ट्वीट, लोगों ने ली चुटकी..

टिप्पणियां

उन्होंने कहा, ‘इसके अलावा अरविंद पनगढ़िया का भी उदाहरण दिया गया. नीति आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष भी कोलंबिया विश्वविद्यालय से अवकाश लेकर आए थे. इन दोनों ही मामलों में उक्त व्यक्ति बेहद संवेदनशील सरकारी पदों पर थे और अपने पिछले नियोक्ता से कोई वेतन नहीं ले रहे थे.' अधिकारी ने कहा, ‘सीओए का मानना है कि अगर द्रविड़ ने घोषित किया है और इंडिया सीमेंट्स से कोई वेतन नहीं ले रहा तो उनका हितों का टकराव नहीं है.' हालांकि सीओए के पत्र के बावजूद द्रविड़ (Rahul Dravid) को सुनवाई के लिए बुलाना जैन का विशेषाधिकार है. उम्मीद की जा रही है कि इस मामले में पाक साफ होने के लिए द्रविड़ को अपने पद से इस्तीफा देने को कहा जा सकता है. नए नियमों के अनुसार बीसीसीआई आचरण अधिकारी के निर्देशों को औपचारिक तौर पर सार्वजनिक नहीं करेगा. सिर्फ लोकपाल के फैसले को सार्वजनिक किया जाएगा. बीसीसीआई के पूर्व मीडिया अधिकारी मयंक पारिख के खिलाफ हितों के टकराव मामले में आगे की सुनवाई से पहले आचरण अधिकारी ने बीसीसीआई को जवाब देने के लिए तीन हफ्ते का समय दिया है. पारिख कथित तौर पर मुंबई क्रिकेट संघ में छह क्लब चलाते हैं.

वीडियो: वीरेंद्र सहवाग से एनडीटीवी की खास बातचीत..



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement