NDTV Khabar

स्पॉट फिक्सिंग का आरोप झेल चुके श्रीसंत 4 साल बाद उतरे मैदान में

केरल उच्च न्यायालय ने हाल में बीसीसीआई को उन पर लगा आजीवन प्रतिबंध हटाने का आदेश दिया था.

9 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
स्पॉट फिक्सिंग का आरोप झेल चुके श्रीसंत 4 साल बाद उतरे मैदान में

एस श्रीसंत (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. श्रीसंत ने राष्ट्रीय ध्वज भी फहराया
  2. श्रीसंत को मैच से पहले फूलों का एक गुलदस्ता भेंट किया गया.
  3. केरल उच्च न्यायालय ने उन्हें स्पॉट फिक्सिंग के आरोपों से बरी कर दिया है.
नई दिल्ली: स्पॉट फिक्सिंग मामले में आरोपों से बरी हुए पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज एस. श्रीसंत चार सालों में पहली बार मैदान में उतरे. क्रिकेटर एस श्रीसंत ने मंगलवार मलयालम फिल्म उद्योग के सदस्यों के साथ एक अनधिकृत नुमाइशी मैच में हिस्सा लिया. हाल ही में केरल उच्च न्यायालय ने उन्हें बड़ी राहत देते हुए उन्हें स्पाट फिक्सिंग के आरोपों से बरी कर दिया था. कोर्ट ने बीसीसीआई से उन पर लगा आजीवन प्रतिबंध हटाने का आदेश दिया था लेकिन बोर्ड ने अदालत की बड़ी पीठ के समक्ष इसके खिलाफ अपील करने का फैसला किया है.

यह भी पढ़ें :  श्रीसंत के ऊपर से स्पाट फिक्सिंग के दाग धुले, जानें क्या है अगला प्लान

टिप्पणियां
गौरतलब है कि बीसीसीआई ने 2013 आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग में कथित भूमिका के लिए श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध लगाया गया था. केरल हाईकोर्ट की एकल पीठ ने हालांकि पिछले सोमवार को आदेश देते हुए केरल के इस तेज गेंदबाज पर लगा प्रतिबंध हटा दिया था. हाईकोर्ट ने श्रीसंत पर लगा लाइफ बैन भले ही हटा दिया हो लेकिन बीसीसीआई अपने अभी तक उन पर प्रतिबंध न हटाने पर अड़ा हुआ है.
VIDEO : सियासत की पिच पर श्रीसंत का शॉट हिट होगा या होंगे हिटविकेट

श्रीसंत ने टीम इंडिया की ओर से 27 टेस्‍ट, 53 वनडे और 10 टी20 मैच खेले हैं. टेस्‍ट क्रिकेट में  87, वनडे में 75 और टी20 में सात विकेट उनके नाम पर दर्ज हैं. केरल के इस तेज गेंदबाज ने अपना आखिरी इंटरनेशनल मैच, टेस्‍ट के रूप में अगस्‍त 2011 में इंग्‍लैंड के खिलाफ ओवल में खेला था. श्रीसंत 2007 में टी20 वर्ल्‍डकप और 2011 में वर्ल्‍डकप जीती भारतीय टीम के सदस्‍य रह चुके हैं.

इनपुट : भाषा


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement